India Shayari

20210710 193051 1

75+(Latest) Tareef Shayari In Hindi | तारीफ शायरी For Lovers

Hello Friends Are You Looking For Tareef Shayari. So Today We Have Brought the Best Collection Of Tareef Shayari For Beautiful Girl. This Collection Contains Various Types Of Status Like Attitude Whatsapp Status, Inspiring Whatsapp Status, Motivational Whatsapp Status, Love Whatsapp Status, Emotional Whatsapp Status Etc. Also, Share These With Your Friends.

Romantic Tareef Shayari

Romantic Tareef Shayari

वो मुझसे रोज़ कहती थी मुझे तुम चाँद ला कर दो,
उसे एक आईना दे कर अकेला छोड़ आया हूँ।


बरसात का बादल तो दीवाना है क्या जाने,
किस राह से बचना है किस छत को भिगोना है।


जो निगाह-ए-नाज़ का बिस्मिल नहीं है,
वो दिल नहीं है, दिल नहीं है, दिल नहीं है।


तेरी सूरत देखकर हजारों ने दिल हारे हैं,
कौन कहता है तस्वीरें जुआ नहीं खेलती।


वो मुझसे रोज़ कहती थी मुझे तुम चाँद ला कर दो,
उसे एक आईना दे कर अकेला छोड़ आया हूँ।


रुख से पर्दा हटा तो, हुस्न बेनकाब हो गया,
उनसे मिली नज़र तो, दिल बेकरार हो गया।


तेरे हुस्न का दीवाना तो हर कोई होगा
लेकिन मेरे जैसी दीवानगी हर किसी में नहीं होगी।


धडकनों को कुछ तो काबू में कर ए दिल,
अभी तो पलकें झुकाई हैं
मुस्कुराना अभी बाकी है उनका।


कुछ इस अदा से आज वो पहलू-नशीं रहे,
जब तक हमारे पास रहे हम नहीं रहे।


नहीं बसती किसी और की सूरत अब इन आँखो में,
काश कि हमने तुझे इतने गौर से ना देखा होता।


चाल मस्त, नजर मस्त, अदा में मस्ती,
जब वह आते हैं लूटे हुए मैखाने को


Tareef Shayari For Beautiful Girl

Tareef Shayari For Beautiful Girl

गिरता जाता है चहरे से नकाब अहिस्ता-अहिस्ता,
निकलता आ रहा है आफ़ताब अहिस्ता-अहिस्ता।


तेरे हुस्न पर लिखूं में क्या तारीफ मेरी जान,
वो लफ्ज़ ही नहीं, जो तेरा हुस्न को बयां कर सकें.


मंज़िल तो ख़ैर नहीं मिली,
मगर सफ़र बहुत खूबसूरत था उसके साथ।


जब जज्बातों को अंजाम देना मुमकिन ना हों,
तो एक ख़ूबसूरत मोड़ देकर छोड़ देना चाहिए।


खूबसूरती से धोखा ना खाइए जनाब,
तलवार कितनी ख़ूबसूरत क्यों ना हो मांगती तो खून ही है।


परियों, में खलबली है, सब एक दूसरे से यही पूछ रहे की,
कौन है ज़मीं पे, जो परियों से भी प्यारा है.


जिस भी कलाकार का शाहकार हो तुम,
उस ने सदियों तुम्हे सोचा होगा.


तेरे हुस्न से हैरान है ज़माना सारा,
एक तेरी कातिल नज़र, उस पर काजल का कहर


हसीं तो और हैं लेकिन कोई कहाँ तुझ सा,
जो दिल जलाये बोहोत फिर भी दिल-रुबा ही लगे.


Heart Touching Tareef Shayari

Heart Touching Tareef Shayari

हसीं तो और हैं लेकिन कोई कहाँ तुझ सा,
जो दिल जलाये बोहोत फिर भी दिल-रुबा ही लगे


हम पर बार बार इश्क़ का इलज़ाम लगाने से क्या होगा,
कभी खुद से तो पोछ की, तू इतना ख़ूबसूरत क्यूँ है


हुस्न आफत नहीं तो फिर क्या है,
तू क़यामत नहीं तो फिर क्या है.


क़यामत टूट पड़ती है ज़रा से होंठ हिलने पर,
ना जाने हश्र क्या होगा अगर वो मुस्कुराये तो.


हर शिकायत वहीं दम तोड़ जाती है,
जब वो मुस्कुरा कर कहती है,
मैंने क्या किया.


मेरी कहानी का सबसे ख़ूबसूरत किरदार हो तुम,
वो जो आख़िर में मिल जाता है वही वाला तो प्यार हो तुम


सँवरने से औरों की बढ़ती होगी खूबसूरती,
तेरी चाहत से मेरा चेहरा यू ही निखर जाता है।


खूबसूरती का एक शाहकार है तेरा चेहरा,
तेरे सामने आने से ज़्यादा, इस दिल को,
तुझे छुपकर देखना अच्छा लगता है.


Tareef Shayari For Beautiful Girl In Hindi

Tareef Shayari For Beautiful Girl In Hindi

तेरे हुस्न से हैरान है ज़माना सारा,
एक तेरी कातिल नज़र, उस पर काजल का कहर.


रब से जो मांगी थी मैने वो दुआ हो तुम,

मिलके भी ना मिले हम वो एक तरफा प्यार हो तुम।


हर तरफ़ आपकी तस्वीर लगा के बैठा हूँ

मैं घर की दीवारों को दिल बना के बैठा हूँ


डर लगता है अब आपकी तारीफ करने में,

कहीं पूंछ ना बैठो मै तेरा कौन लगता हूं


उसने जब मेरी तरफ प्यार से देखा होगा

मेरे बारे में बड़े ग़ौर से सोचा होगा .


मुझको एक तरफा राब्ता काफी है

इश्क़ में हूँ तेरे____ तेरी हवस में नही


मेरी निगाहें बार-बार आकर रुक जाती है,
उसके हुस्न-ए-दीदार से ना जाने क्यों ये थम जाती है.


तुम्हारी आँखों की तौहीन है ज़रा सोचो
तुम्हारा चाहने वाला शराब पीता है


हसीं तो और हैं लेकिन कोई कहाँ तुझ सा
जो दिल जलाए बहुत फिर भी दिलरुबा ही लगे


Latest Tareef Shayari In Hindi

Latest Tareef Shayari In Hindi

परियों, में खलबली है, सब एक दूसरे से यही पूछ रहे की,
कौन है ज़मीं पे, जो परियों से भी प्यारा है.


लोग भले ही मेरी शायरी की तारीफ न करे
खुशी दुगनी होती है जब उसे कॉपी पेस्ट में देखता हूं


सभी तारीफ करते हैं, मेरी शायरी की लेकिन
कभी कोई सुनता नहीं, मेरे अल्फाज़ो की सिसकियाँ.


क्या लिखूँ तेरी सूरत – ए – तारीफ मेँ , मेरे हमदम
अल्फाज खत्म हो गये हैँ, तेरी अदाएँ देख-देख के


मिल जाएँगे हमारी भी तारीफ़” करने वाले.
कोई हमारी मौत की “अफ़वाह” तो फैलाओ यारों


उनकी तारीफ़ क्या पूछते हो उम्र सारी गुनाहों में गुजरी
अब शरीफ बन रहे है वो ऐसे जैसे गंगा नहाये हुए है


इश्क़ को जब हुस्न से नजरें मिलाना आ गया,
खुद-ब-खुद घबरा के कदमों में जमाना आ गया.


जब वो सँवर कर मेरे सामने आयें,
वो करोड़ो में सँवरी
और चिल्लर में हम तारीफ़ कर पायें.


Other Posts :-

Zakhmi Dil Shayari

Best Alone Shayari

Best Ishq Shayari

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *