India Shayari

20210923 092317 1

[131+ Best] Shikayat Shayari In Hindi | शिकायत भरी शायरी

Hello, Friends Are You Looking For Shikayat Shayari. So Today We Have Brought the Best Collection Of शिकायत भरी शायरी. This Collection Contains Various Types Of Shayari Like Shikayat Shayari Hindi, Shikayat Shayari in Hindi, Shikayat Shayari Images Etc. Also, Share These With Your Friends.

शिकायत भरी शायरी

शिकायत भरी शायरी

कर दोगे बंद मुझसे कोई शिकायत करना,
जिस दिन मेरे दिल मे झांककर देखोगे


Meri Khamoshi Se Use Koyi Farq Nahi Padta,
Shikayat Mein Do Lafz Keh Dun Toh Chubh Jate Hain !!

मेरी खामोशी से उसे कभी कोई फर्क नहीं पड़ता,
शिकायत में दो लफ़्ज कह दूं तो चुभ जाते हैं


तुम सामने आये तो, अजब तमाशा हुआ
हर शिकायत ने जैसे, खुदकुशी कर ली !!

Tum Samne Aaye To, Ajab Tamasha Hua;
Har Shakayat Ne Jaise, Khudkhushi Kar Li


शिकायत तुम्हे वक्त से नहीं खुद से होगी,
कि मुहब्बत सामने थी, और तुम दुनिया में उलझी रही!!

Shikayat Tumhe Waqt Se Nahi Khid Se Hogi;
Ki Muhabbat Samne Thi, Aur Tum Duniya Me Uljhi Rahi


सारी शिकायतों का हिसाब जोड़ कर रखा था,
उसने बाँहों में लेकर सारा गणित बिगाड़ दिया।

Saari Shikaayaton Ka Hisaab Jod Kar Rakha Tha,
Usne Baahon Me Lekar Sara Ganit Bigaad Diya


कोई शिकवा ना कोई शिकायत…
खामोशी की अब डाल ली आदत…!!

Na Koi Shikwa Na Koyi Shikaayat,
Khamoshi Ki Ab Daal Li Aadat


कर ली खुदखुशी हर शिकायत ने तुझे देखकर,
अब मेरा दिल भी तेरी वकालत कर रहा है !!

Kar Li Khudkhushi Har Shikayat Ne Tujhe Dekhkar,
Ab Mera Dil Bhi Teri Wakaalat Kar Raha Hai !!


हम शिकवा करें भी तो किससे करें,
न हम किसी के है न कोई हमारा !!

Hum Shikwa Kare Bhi To Kisse Kare,
Na Hum Kisi Ke Hai Na Koi Humara


उन्हीं में होता है रिश्तें निभाने का दम,
जो शिकवे और शिकायतें करते है कम !!

Unhi Me Hota Hai Rishten Nibhane Ka Dum,
Jo Shikwa Aur Shikayat Karte Hai Kum !!


न होगी कोई शिकायत बीती बातों का,
गर फिर से आप मेरे मेहरम बन जाओ !!

Na Hogi Koi Shikayat Biti Baaton Ka,
Gar Fir Se Aap Mere Meharm Ban Jao


शिकायत है खुदा से तेरा मुझे
यूँ छोड़ कर जाना,
फिर सोचा मर्ज़ी तुम्हारी थी
तो खुदा को क्यों बीच में लाना !!

Shikayat Hai Khuda Se Tera Mujhe
Yun Chhod Kar Jana,
Fir Socha Marzi Tumhari Thi To
Khuda Ko Kyo Bich Me Lana !


Shikayat Shayari

Shikayat Shayari

शिकायत उन्हें कि हम याद नहीं करते,
भूले ही कहा थे जो उन्हें याद करते।


अर्ज़ किया है-
हमारी हर शिकायत को,
दूर करने की कोशिश करते.
वो हमारे माँ-बाप है,
जो हमारी झोली खुशियों से भरते


ज़िन्दगी से अगर
शिकायत करते रहोगे
तो खुद को दिन-ब-दिन
कमज़ोर करते रहोगे


अर्ज़ किया है-
शिकायत तुमसे नहीं ,
जिंदगी से है
वो अलग बात है कि
तुम ही ज़िन्दगी हो


कभी अपने माँ-बाप को,
शिकायत का मौका मत देना।
चाहे कितना भी हो मन खराब ,
उनसे कभी बुरा मत कहना।


मुझे बस इतनी-सी शिकायत है,
कि मुझे तुम क्यू छोड़ गयी ?
जिस दिल में इतना प्यार भरा था,
उसे क्यू बेवजह तोड़ गयी


कभी पलकों पे आंसू है,
कभी लब पर शिकायत है
मगर ए-ज़िन्दगी फिर भी
मुझे तुझसे मोहब्बत है।


बड़ी तकलीफ देता है वो काम,
जब उसके बदले तारीफ नही
शिकायत मिलती है।


अब तुझसे शिकायत करना मेरे हक़ में नहीं,
क्योंकि तू आरज़ू मेरी थी
पर अमानत शायद किसी और की है।


अर्ज़ किया है-
हमारे रिश्ते में अभी,
बहुत है कमियाँ .
इसलिए शिकायते है ,
तेरे-मेरे दर्मिया


अर्ज़ किया है-
इंसान की फितरत ही है कुछ ऐसी,
इसे तो हर चीज़ से शिकायत है.
इंसान को इंसान से तो छोडो,
इसे तो भगवान से भी शिकायत है


Shikayat Shayari In Hindi

Shikayat Shayari In Hindi

शिकायत क्यों करती है तू मेरे रूठ जाने से,
मैंने तो तेरे बेवफा होने पर भी कुछ नहीं कहा


हम क्यूँ,शिकवा करें झूठा,क्या हुआ जो दिल टूटा
शीशे का खिलौना था, कुछ ना कुछ तो होना था


जिन्दगी से तो खैर शिकवा था
मुद्दतों मौत ने भी तरसाया।


आप नाराज़ हों, रूठे, के ख़फ़ा हो जाएँ,
बात इतनी भी ना बिगड़े कि जुदा हो जाएँ


हो जाते हो बरहम भी बन जाते हो हमदम भी
ऐ साकी-ए-मयखाना शोला भी हो,शबनम भी


शिकवा तो एक छेड़ है लेकिन हकीकतन
तेरा सितम भी तेरी इनायत से कम नहीं।


तेरी उम्मीद तेरा इन्तज़ार कब से है,
ना शब् को दिन से शिकायत ना दिन को शब् से है।


तुम को नाराज़ ही रहना है तो कुछ बात करो ‘फ़राज़’,
चुप रहते हो तो मुहब्बत का गुमान होता है


किसी को भी कभी तुमसे शिकायत हो नही सकती
अगर जो ग़ौर से खुद का,कभी किरदार पढ़ लोगे


शिकवा कोई दरिया की रवानी से नहीं है,
रिश्ता ही मेरी प्यास का पानी से नहीं है


तुझसे नाराज़ नहीं जिंदगी हैरान हु में
तेरे मासूम सवालों से परेशां हूँ में


शिकायत भरी शायरी हिन्दी

Shikayat Shayari In Hindi

तोड़ दिया हमने सबसे रिश्ता उम्मीद का,
अब किसी से हम कोई शिकायत नही करेंगे


हम को पहले भी न मिलने की शिकायत कब थी
अब जो है तर्क-ए-मरासिम का बहाना हम से


थोड़ी देर और ठहर, ए नाराज़ ज़िन्दगी,
कुछ दुआयें मांग लूँ, मेरे अपनों के लिऐ


हुस्न और इश्क का हर नाज़ है पर्दे में अभी,
अपनी नजरों की शिकायत किसे पेश करूं


कीन-ओ-काविश की मेरे दिल में गुंजाइश नही,
शिकवा हा-ए-ग़म को रखता हूँ यहाँ रू-पोश मैं


ख़ामोश रहूँ तो मुश्किल है
कह दूँ तो शिकायत होती है


तेरे हर दर्द को मुह्ब्बत की इनायत समझा
हम कोई तुम थे जो तुम से शिकायत करते


हाय आदाबे मुह्ब्बत के तकाजे सागर
लब हिले आैर शिकायत ने दम तोड़ दिया


थी शिकायत तो बात कर लेते
तरके तअलुक ही क्या जरूरी था


जुदा तो एक दिन सांसें भी हो जाती है
तो फिर शिकायत सिर्फ मोहबत से ही क्यों


नहीं शिकायत रही अब मुझे तेरी नजरअंदाजी से
तु बाकियों को खुश रख हम तन्हा ही अच्छे है


आप जिसे सबसे ज्यादा प्रेम करते हैं
अंत में वही आपको प्रेम ना करना सिखाता है


Emotional Shikayat Shayari

Emotional Shikayat Shayari

टूट जाते है रिश्तें अक्सर शिकायत करने से,
छोटी छोटी बातों को दिल से न लगाया करें !


हमें उनसे कोई शिकायत नहीं
शायद हमारी किस्मत में चाहत नहीं
मेरी तकदीर को लिखकर तो ऊपर वाला भी मुकर गया
पूछा तो कहा ये मेरी लिखावट नही


यूं तो ये जिंदगी
तेरे सफर से शिकायते बहुत थी
मगर दर्द जब दर्ज कराने पहुंचे
तो कतारें बहुत थी


मैं शिकायत भी करूं तो क्यों करूं
यह तो किस्मत की बात है
मैं तेरे सोच में नहीं हूं कहीं और
तुम मुझे लफ्ज़ लफ्ज़ यादें है


मैंने आज सुना है कि आपकी हिचकियां
रुकने का तो नाम ही नहीं ले रही थी
और आपकी मां कहती थी वो कमबख्त
तुझे याद कर करके जान लेके ही रहेगा


शिकायत तो बहुत है तेरे से ए जिंदगी
पर चुप इसलिए हूं क्योंकि
जो तूने मुझे दिया है बहुतों के नसीब में नहीं


शिकायत है उन्हें कि हमें मोहब्बत करना नहीं आता,
शिकवा तो इस दिल को भी है,
पर इसे शिकायत करना नही आता !


बहुत ही खूबसूरत होती है एक तरफ़ा मोहब्बत….
ना ही कोई शिकायत होती है और…
ना ही कोई बेवफ़ा कहलाता है


शिकायत है उन्हें कि,
हमें मोहब्बत करना नही आता,
शिकवा तो इस दिल को भी है,
पर इसे शिकायत करना नहीं आता


बहुत कोशिश की तन्हा न रहूँ
मगर तेरी रूसवाई ने सिखा ही दिया
न करूँ किसी से दर्द की शिकायत
तन्हा रहने का अंदाज बता ही दिया


2021 शिकायत भरी शायरी

2021 शिकायत भरी शायरी

शिकायत क्या करें हम इन अंधेरी रातों से,
मेरी जिंदगी में अंधेरा तो दिन में भी रहता है


हद से बढ़ गया है तेरा नज़र अदाज करना,
ऐसा सलुक न करो की हम भुलने पे मजबुर हो जाये


शिकायत करने से खामोश‬ रहना ‪बेहतर‬ है,
क्यूंकि जब ‪किसी‬को ‎फर्क‬ नहीं पड़ता तो शिकायत‬ कैसी


तुम्हारी मोहब्बत भी कितनी कमाल की है,
सबके लिए है बस मेरे लिए ही नहीं


वो क्यूँ नहीं समझता मेरी ख़ामोशी को,
क्या प्यार का इजहार करना जरुरी है


हालात किस्मत और वक़्त की बात है,
वरना मैं इतना बुरा नहीं जितना तुम सोच रही हो


एक बार गले मिलकर रोने जो दिया होता,
एक पल तो मोहब्बत को मैंने भी जिया होता !!


क्यूँ खेलते हो तुम हमसे मोहब्बत का खेल,
बात बात में रूठ तुम जाते हो और टूटकर बिखर हम जाते है


तुम्हें मालूम ही था की मैं तन्हा नहीं रह सकता,
मेरे साथ रुक जाते मेरी आदत बदलने तक !


काश प्यार में भी कुछ कायदे होते,
जब भी मैं चाहूँ और तुम मेरे करीब होते


बहुत शौक है न तुझे बहस का,
आ बैठ और बता मोहब्बत क्या है


Shikayat Shayari For Boyfriend

2021 शिकायत भरी शायरी

बहुत अंदर तक जला देती है वो शिकायतें,
जो बया नहीं होती


उधार रहा मुझ पर वो वक़्त तेरा,
जब हुआ करता था तुझ पर सिर्फ हक़ मेरा


मेरी बेकरारी देखी है तूने कभी सब्र भी देख,
मैं इतना खामोश हो जाऊँगी की तू चिल्ला उठेगा


जिन्दगी मिली भी तो है मुझे सिर्फ दो दिन की,
ये दो दिन भी बीत रहे है उसको मनाने में


मेरी ख़ामोशी में सन्नाटा भी है शोर भी है,
तूने देखा ही नहीं आँखों में कुछ और भी है


काश अपनी भी ऐसी ही एक रात आती,
मैं देखता उसका ख्वाब और वह सच में आ जाती


मत छीन अपना नाम मेरे लब से इस तरह,
इस बेनाम जिन्दगी में तेरा नाम ही तो है


मिलते है बहुत लोग जुबान को समझने वाले,
काश कोई मिले जो धड़कनों को समझे


काश कभी यूँ भी हो की बाजी पलट जाए,
उसे याद सताए मेरी और मैं सुकून से सो जाऊं


उसके जैसी कोई और कैसे हो सकती है,
और अब तो वो खुद भी अपने जैसी नहीं रही


रोज ख्वाबों में जीती हूँ वो जिन्दगी,
जो तेरे साथ मैनें हकीकत में सोची थी !!


ALSO READ ( ये भी पढ़े ) :-

Amazing Sorry Shayari

Best Intezar Shayari

Heart touching maut Shayari

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *