India Shayari

20210710 183725

[75+ Latest] Sharab shayari | Shayari On Sharab | शराब शायरी

Hello, Friends Are You Looking For Sharab Shayari. So Today We Have Brought the Best Collection Of Shayari On Sharab. This Collection Contains Various Types Of Shayari Like Sharab shayari By Galib, Sharab Ki Shayari, Galib Shayari On Sharab. Also, Share These With Your Friends.

Latest Sharab shayari In Hindi

Latest Sharab shayari In Hindi

एक शराब की बोतल दबोच रखी है,
तुझे भुलाने की तरकीब सोच रखी है।

*****************************************

मेरी कबर पे मत गुलाब ले कर आना,
न ही हाथों में चिराग ले कर आना,
प्यासा हूँ मैं बरसो से सनम,
बोतल शराब की और एक गिलास ले कर आना।

*****************************************

नशा मोहब्बत का हो या शराब का,
होश दोनों में खो जाते हैं,
फर्क सिर्फ इतना है की शराब सुला देती है,
और मोहब्बत रुला देती है।

*****************************************

ग़म इस कदर मिला कि घबरा के पी गए,
ख़ुशी थोड़ी सी मिली तो मिला के पी गए,
यूँ तो ना थी जनम से पीने की आदत,
शराब को तनहा देखा तो तरस खा के पी गए

*****************************************

रात हम पिए हुए थे मगर,
आप की आँखें भी शराबी थीं,
फिर हमारे खराब होने में,
आप ही कहिये क्या खराबी थी।

*****************************************

पीते थे शराब हम
उसने छुड़ाई अपनी कसम देकर,
महफ़िल में आये तो यारों ने
पिला दी उसकी कसम देकर।

*****************************************

थोड़ा गम मिला तो घबरा के पी गए,
थोड़ी खुशी मिली तो मिला के पी गए,
यूँ तो न थी हमें ये पीने की आदत,
शराब को तन्हा देख तरस खा के पी गए।

*****************************************

वो भी दिन थे जब हम भी पिया करते थे,
यूँ न करो हमसे पीने पिलाने की बात,
जितनी तुम्हारे जाम में है शराब,
उतनी हम पैमाने में छोड़ दिया करते थे।

*****************************************

नशा हम किया करते हैं
इल्ज़ाम शराब को दिया करते हैं,
कसूर शराब का नहीं उनका है
जिसका चेहरा हम जाम में तलाश किया करते हैं

*****************************************

Sharab shayari By Galib

Sharab shayari By Galib

हम तो बदनाम हुए कुछ इस कदर दोस्तों,
की पानी भी पियें तो लोग शराब कहते हैं।

*****************************************

Mayakhane Se Poochha Aaj Itna Sannata Kyu Hai,
Bola, Saahab Lahoo Ka Daur Hai Sharab Kaun Peeta Hai.

मयखाने से पूछा आज इतना सन्नाटा क्यों है,
बोला, साहब लहू का दौर है शराब कौन पीता है।

*****************************************

Na Jakhm Bhare, Na Sharab Sahara Hui,
Na Wo Bapas Lauti Na Mohabbat Dobara Hui.

न जख्म भरे, न शराब सहारा हुई
न वो वापस लौटी न मोहब्बत दोबारा हुई।

*****************************************

Bahut Ameer Hoti Hai Ye Sharab Ki Botlen,
Paisa Chahe Jo Bhi Lag Jaye Sare Gam Khareed Leti Hain.

बहुत अमीर होती है ये शराब की बोतलें,
पैसा चाहे जो भी लग जाए सारे ग़म ख़रीद लेतीं हैं।

*****************************************

Ham To Badnaam Huye Kuchh Is Kadar Dosto,
Ki Paani Bhi Piyen To Log Sharab Kahate Hain.

हम तो बदनाम हुए कुछ इस कदर दोस्तों,
की पानी भी पियें तो लोग शराब कहते हैं।

*****************************************

Ek Sharab Ki Botal Daboch Rakhi Hai,
Tujhe Bhulane Ki Tarakeeb Soch Rakh Hai.

एक शराब की बोतल दबोच रखी है,
तुझे भुलाने की तरकीब सोच रखी है।

*****************************************

Shayari On Sharab In Hindi

Shayari On Sharab In Hindi

न जख्म भरे, न शराब सहारा हुई
न वो वापस लौटी न मोहब्बत दोबारा हुई।

*****************************************

बस एक इतनी वजह है मेरे न पीने की
शराब है वही साक़ी मगर गिलास नहीं.

*****************************************

निगाह-ए-साक़ी से पैहम छलक रही है शराब,
पिओ की पीने-पिलाने की रात आई है.

*****************************************

उनकी आंखें यह कहती रहती हैं
लोग नाहक शराब पीते हैं.

*****************************************

आए थे हँसते खेलते मय-ख़ाने में ‘फ़िराक़’
जब पी चुके शराब तो संजीदा हो गए

*****************************************

शराब चीज़ ही ऐसी है ना छोड़ी जाये

ये मेरे यार के जैसी है ना छोड़ी जाये

*****************************************

थोड़ी सी पी शराब थोड़ी सी उछाल दी,

कुछ इस तरह से हमने जवानी निकाल दी।

*****************************************

मुखातिब हैं साकी की मख्मूर नजरें,

मेरे जर्फ का इम्तिहाँ हो रहा है

*****************************************

तुम्हारी बेरूखी ने लाज रख ली बादाखाने की,

तुम आंखों से पिला देते तो पैमाने कहाँ जाते।

*****************************************

Sharab Ki Shayari In Hindi

Sharab Ki Shayari In Hindi

हम तो समझे थे के बरसात में बरसेगी शराब
आई बरसात तो बरसात ने दिल तोड़ दिया.

*****************************************

ग़ालिब छुटी शराब पर अब भी कभी-कभी
पीता हूँ रोज़ अब्र शबे-महताब में

*****************************************

बे पिए ही शराब से नफ़रत
ये जहालत नही तो और क्या है?

*****************************************

तुम्हारी नीम निगाही में न जाने क्या था
शराब सामने आयी तो फैंक दी मैंने.

*****************************************

मीर इन नीम बाज आखों में
सारी मस्ती शराब की सी है.

*****************************************

आप अपने नशे में जीते है
हम जरा सी शराब पीते है..

*****************************************

देखा किये वह मस्त निगाहों से बार-बार,

जब तक शराब आई कई दौर चल गये।

*****************************************

तुम आज साक़ी बने हो तो शहर प्यासा है,

हमारे दौर में ख़ाली कोई गिलास न था।

*****************************************

Galib Shayari On Sharab In Hindi

Galib Shayari On Sharab In Hindi

टूटे तेरी निगाह से अगर दिल हबाब का
पानी भी फिर पिएं तो मज़ा दे शराब का.

*****************************************

मेरे इत्तक़ा का बाइस,
तु है मेरी नातवानी
जो में तौबा तोड़ सकता,
तो शराब ख़ार होता

*****************************************

तमाम रातें गुजर गयीं मयखाने में पीते-पीते
मगर अफ़सोस
न बोतल ख़त्म हुयी,
न किस्सा ख़त्म हुआ
और न ही तेरे दर्द का वो हिस्सा ख़त्म हुआ।

*****************************************

हर किसी बात का जवाब नहीं होता
हर जाम इश्क में ख़राब नहीं होता
यूँ तो झूम लेते है नशे में रहने वाले
मगर हर नशे का नाम शराब नहीं होता.

*****************************************

कौन है जिसने मय नही चक्खी
कौन झूठी क़सम उठाता है,
मयकदे से जो बच निकलता है 
तेरी आँखों में डूब जाता है !

*****************************************

तेरी आँखों के ये जो प्याले हैं,
मेरी अंधेरी रातों के उजाले हैं,
पीता हूँ जाम पर जाम तेरे नाम का,
हम तो शराबी बे-शराब वाले हैं.

*****************************************

पूरा अब मेरा ये ख़्वाब हो जाये,
लिख दू उनके दिल पे किताब हो जाये,
ना मयकदे की जरूरत हो ना मयखाने की,
अगर नज़र से पिला दो शराब हो जाये..

*****************************************

मेरे इत्तक़ा का बाइस,
तु है मेरी नातवानी
जो में तौबा तोड़ सकता,
तो शराब ख़ार होता

*****************************************

रात हम पिए हुए थे मगर,
आप की आँखें भी शराबी थीं,
फिर हमारे खराब होने में,
आप ही कहिये क्या खराबी थी।

*****************************************

Other Posts –

Judai Shayari In Hindi

Sad Alone Shayari

Fake Love Quotes

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *