India Shayari

20210922 090948

[151+ Best] Rula Dene Wali Shayari | Rulane Wali Shayari

Hello, Friends Are You Looking For Rula Dene Wali Shayari. So Today We Have Brought the Best Collection Of Rulane Wali Shayari. This Collection Contains Various Types Of Shayari Like Dil ko Rula Dene Wali Shayari In Hindi, दिल को रुला देने वाली शायरी, Time Na Dene Wali Shayari, Dil Ko Rulane Wali Shayari Etc. Also, Share These With Your Friends.

Rula Dene Wali Shayari

Rula Dene Wali Shayari

 

वो अनजान चला है जन्नत को पाने की खातिर
खबर को इत्तेला कर दो की माँ बाप घर पर है


अकेले रहने का भी एक अलग सूकून है
ना किसी की वापस आने की उम्मीद
ना किसी के छोड़ कर जाने का डर


सुहाना मौसम और हवा में नही होगी
आंसुओं की बहती नदी होगी
मिलना तो हम तब भी चाहेंगे आपसे
जब आपके पास वक़्त और हमारे पास सांसो की कमी होगी


जो नजर से गुजर जाया करते है
वो सितारे अक्सर टूट जाया करते है
कुछ लोग दर्द को बया नही होने देते
बस चुपचाप बिखर जाया करते है


दर्द से हाथ ना मिलते तो और क्या करते
गम के आँसू ना बहाते तो और क्या करते
उसने मांगी थी हमसे रौशनी की दुआ
हम खुद को ना जलाते तो और काया करते


कोई रास्ता नही दुआ के सिवा
कोई सुनता नही खुदा के सिवा
मैने भी ज़िंदगी को करीब से
देखा है मेरे दोस्त
मुस्किल मे कोई साथ नही देता
आँसू के सिवा


दोस्तों में जब दरार बढ़ जाती है
तड़पने के लिये सिर्फ याद रह जाती है
क्या फर्क पड़ता है कागज हो या कोयला
जलने के बाद सिर्फ याद रह जाती है !


पानी से तसवीर कहां बनती है
ख्वाबों से तकदीर कहां बनती है
किसी से दोस्ती करो तो सच्चे दिल से
क्य़ॊंकि यह जिंदगी फिर कहां मिलती है


किसी को न पाने से जिंदगी खत्म
नहीं हो जाती
पर किसी को पाकर
खो देने के बाद कुछ बाकी भी
नहीं बचता !


हर सुबह को अपनी सांसों में रखो
हर शाम को अपनी बाहों में रखो
हर जीत आपकी है बस
अपनी मंजिल को अपनी निगाहों में रखो


आज कुछ कमी है तेरे बगैर
ना रंग है ना रोशनी है तेरे बगैर
वक्त अपनी रफ्तार से चल रहा है
बस धड़कन सी थमी है तेरे बगैर !


Rulane Wali Shayari

Rulane Wali Shayari

मेरे अधूरे किस्से का मुझे हिसाब चाहिए
मैं सही था या गलत मुझे जवाब चाहिए


ना रहा करो उदास किसी
बेवफा की याद में
वो खुश है अपनी दुनिया में तुम्हारी
दुनिया उजाड़ कर !!


तेरी हर तमन्ना पूरी हो
जब में टूटू तू भी अधूरी हो
न देख पाव छुड़े जोड़े है तुझको
रहु में अधूरा तो तेरी हर
ख्वाहिश अधूरी हो !!


तपिश से बच कर घटाओं में बैठ जाते हैं
गए हुए की सदाओं में बैठ जाते हैं
हम अपनी उदासी से जब भी घबराये
तेरे ख़याल की छाँव में बैठ जाते हैं !!


जाने क्यूँ लोग हमें आजमाते है
कुछ पल साथ रहकर भी दूर चले जाते है
सच्च ही कहा है कहने वाले ने
सागर के मिलने के बाद
लोग बारिश को भूल जाते है !


ऐसा नहीं कि आप याद आते नहीं
खता सिर्फ इतनी है कि हम बताते नहीं
रिश्ता आपका अनमोल है हमारे लिये
समझते हो आप इसलिये हम जताते नहीं


यह मौसम भी कितना अजीब है
तेरी याद दिला ही जाता हे
कितना भी रोक लो इन आंसुओ को
यह आँखों से आँसू निकल ही जाता हे


दुःख इस बात का नहीं कि तुम गए
दुःख तो इस बात का हे
की तुमने जाते जाते पीछे
मुड़कर न देखा


मेरी चाहत नहीं बीती अभी कुछ
नहीं बदला
अगर चाहो अगर समझो मेरी मनो
लौट आओ अबी कुछ नहीं बदला


तू कर दे मुकम्मल मेरी भी
एक आखरी ख्वाहिश ऐ खुदा
या तो दिल से जज़्बात मिला दे
या दिल को पत्थर बना दे


प्यार तो हमने एक तरफ़ा ही सच्चा देखा हे
दो तरफा प्यार में तो हमने अक्सर
धोखा खाते लोगो को देखा है


Rula Dene Wali Shayari In Hindi

Rula Dene Wali Shayari In Hindi

देख कर तुम्हे कुछ इस तरह बेहक जाऊ में
तुम रुबरु आओ तो नज़रो में ठहर जाऊ में


jo najar se gujar jaya karte hai,
wo sitare aksar tut jaya karte Hai,
kuch log dard ko baya nahi hone dete,
bas chupchap bikhar jaya karte hai…

जो नजर से गुजर जाया करते हैं,
वो सितारे अक्सर टूट जाया करते हैं,
कुछ लोग दर्द को बयां नहीं होने देते,
बस चुपचाप बिखर जाया करते है


mujhko aisa dard mila jiski dawa nahi..
phir bhi khush hun mujhe us se koi gila nahi..
aur kitne aansu bahaun ab us ke liye..
jisko khuda ne mere naseeb main likha hi nahi…

मुझको ऐसा दर्द मिला जिसकी दवा नहीं,
फिर भी खुश हूँ मुझे उस से कोई गिला नहीं,
और कितने आंसू बहाऊँ उस के लिए,
जिसको खुदा ने मेरे नसीब में लिखा ही नहीं


betaab se rehte hai teri yaad me aksar,
raat bhar nahi sote teri yaad me aksar.
bedard zamane ka bahana sa bana ke,
hum tut kar rote hai teri yaad me aksar…

बेताब से रहते हैं उसकी याद में अक्सर,
रात भर नहीं सोते हैं उसकी याद में अक्सर,
जिस्म में दर्द का बहाना सा बना कर,
हम टूट कर रोते हैं उसकी याद में अक्सर


kitna aur dard dega bas itna bata de,
aisa kar malik ab meri hasti mita de,
yun ghut ke jina maut se badtar hai,
kabhi na khule aankhe tu aisi neend sula de…

कितना और दर्द देगा बस इतना बता दे,
ऐसा कर मालिक अब मेरी हस्ती मिटा दे,
यूँ घुट के जीना मौत से बदतर है,
कभी ना खुले आँखे तू ऐसी नींद सुला दे


bahot chaha usko jise hum pa na sake,
khayaloun me kisi aur ko la na sake,
usko dekh ke aansu to ponchh liye,
lekin kisi aur ko dekh ke muskura na sake…

बहुत चाहा उसको जिसे हम पा न सके,
ख्यालों में किसी और को ला न सके,
उसको देख के आंसू तो पोंछ लिए,
लेकिन किसी और को देख के मुस्कुरा न सके…


हाथों की लकीरें पढ़ के रो देता है मेरा दिल,
सब कुछ तो है मगर एक तेरा नाम क्यूँ नहीं है।

Haathon Ki Lakeerein Parh Ke Ro Deta Hai Mera Dil,
SabKuchh To Hai Magar Ek Tera Naam Kyun Nahi Hai


ग़ुज़री तमाम उम्र उसी शहर में जहाँ..
वाक़फ़ सभी थे,
कोई पहचानता न था..

Guzaree tamaam umr usee
shahar mein jahaan..
Vaaqif sabhee the,
Koee pahachaanata na tha..


जिसको आज मुझमे
हजारो गलतिया नजर आती हैं
कभी उसी ने कहा था
तुम जैसे भी हो मेरे हो

Jisko aaj mujme
Hjaro galtiya najar aati hain
Kbhi usi ne kaha tha
Tum jaise bhi ho mere ho


खुशियों की दामन में आंसू गिराकर तो देखिये
ये रिश्ता कितना सच्चा है आजमाकर तो देखिये
आपके रूठने से क्या होगी मेरे दिल की हालत
किसी आइने पर पत्थर गिराकर तो देखिये


Khushiyon kee daaman mein
aansoo giraakar to dekhiye
Ye rishta kitana sachcha hai
aajamaakar to dekhiye
Aapake roothane se kya hogee
mere dil kee haalat Kisee aaine par patthar giraakar to dekhiye


इश्क़ में नशे में
मैं चूर होता जा रहा हूँ
मैं तुम्हे लिखते लिखते
मशहूर होता जा रहा हूँ


Ishq mein nashe mein
Main choor hota ja raha hoon
Main tumhe likhate likhate
Mashahoor hota ja raha hoon


लाकर मेरे करीब तुझको दूर कर दिया
तकदीर भी मेरे साथ एक चाल चल गई


Laakar mere kareeb Tujhako door kar diya
Takadeer bhee mere saath ek chaal chal gaee


हम तो तेरे दिल की महफ़िल सजाने आये थे
तेरी कसम तुजे अपना बनाने आये थे
किस बातकी सजा दी तूने हमको हम तो
तेरे दर्द को अपना बनाने आये थे


Ham to tere dil kee
Mahafil sajaane aaye the
Teree kasam tuje apana banaane aaye the
Kis baatakee saja dee toone hamako
Ham to tere dard ko
Apana banaane aaye the


करीब आने की ख्वाहिशें तो बहुत थी मगर
करीब आकर पता चला की मुहब्बत तो फासलों में है


Kareeb aane kee khvaahishen to bahut thee magar
Kareeb aakar pata chala kee
Muhabbat to phaasalon mein hai


शायरी में कहाँ सिमटता है
दर्दए-दिल दोस्तो,
बहला रहे है खुद को
जरा कागजों के साथ।

Shaayaree mein kahaan simatata hai
Dard-e-dil dosto,
Behla rahe hai khud ko
Jara kaagajon ke saath


Rulane Wali Shayari In Hindi

Rulane Wali Shayari In Hindi

मुझे ज़िन्दगी की दुआ देने वाले
हंसी आ रही है तेरी सादगी पर


अपनी तो “ज़िन्दगी“ की अजीब कहानी है !
जिस चीज़ की चाहा है वो ही ”बेगानी” है !
हँसते भी है तो दुनिया को ”हँसाने” के लिए !
वरना दुनिया डूब जाये इन आखों में इतना पानी है !


सुहाना मौसम था हवा में नमी थी
आँसुओ की बहती नदी अभी अभी थमी थी,
मिलने की चाहत बहुत थी उनसे
पर उनके पास वक़्त और हमारे पास सांसो की कमी थी


आंसुओसे पलके भिगा लेता हूँ !
याद तेरी आती है तो रो लेता हूँ !
सोचा की भुलादु तुझे मगर !
हर बार फ़ैसला बदल देता हूँ !


अश्क बन कर आँखों से बहते हैं !
बहती आँखों से उनका दीदार करते हैं !
माना की ज़िंदगी मे उन्हे पा नही सकते !
फिर भी हम उनसे बहुत प्यार करते हैं !!


वो आती नही पर निसानी भेज देती हैं
ख्वाबो में दास्तां पुरानी भेज देती हैं.
कितने मिठे है उनके यादो के मंजर.
कभी-कभी आखो में पानी भेज देती हैं


अब भी हसीन सपने आँखों में पल रहे हैं !
पलकें हैं बंद फिर भी आँसू निकल रहे हैं !
नींदें कहाँ से आएँ बिस्तर पे करवटें ही !
वहाँ तुम बदल रहे हो यहाँ हम बदल रहे हैं !!


दर्द दे कर इश्क़ ने हमे रुला दियाजिस पर मरते थे !
उसने ही हमे भुला दिया. हम तो उनकी यादों में ही जी लेते थे !
मगर उन्होने तो यादों में ही ज़हेर मिला दिया


जैसे निकलती है हवा सूखे पत्तो से !
वैसे ही आँखो से ख्वाब होकर निकलते गये !
बिना माँगे ही दुख मिला हैं बहुत ए रब्बा !
बस एक प्यार ही ना मिला जो हम माँगते रहे !


जख्म जब मेरे सीने के भर जाएंगे
आँसू भी मोती बनकर बिखर जायेंगे
ये मत पूछना किस किस ने धोखा दिया
वरना कुछ अपनों के चेहरे उत्तर जायेंगे


दीवाना हूँ तेरा मुझे इंकार नहीं
कैसे कह दू की मुझे तुमसे प्यार नहीं
कुछ शरारत तो तेरी नजरों में भी थी
मैं अकेला ही तो इसका गुनेगार नहीं


खुशियों की दामन में आंसू गिराकर तो देखिये
ये रिश्ता कितना सच्चा है आजमाकर तो देखिये
आपके रूठने से क्या होगी मेरे दिल की हालत
किसी आइने पर पत्थर गिराकर तो देखिये


हम तो तेरे दिल की महफ़िल सजाने आये थे
तेरी कसम तुजे अपना बनाने आये थे
किस बातकी सजा दी तूने हमको
हम तो तेरे दर्द को अपना बनाने आये थे


एक दिन मैंने दिल से पूछा क्यों तू किसी पे आता है
किसी दिन तेरे 2 टुकड़े हो जाएंगे तो दिल ने कहा
मुझे टूटने का गम नहीं तोड़ने वालेतो खुश हो जायेंगे


आँसू मुस्कुराहट से ज्यादा अच्छे होते है जानते हो क्यूँ !
क्यूँकि मुस्कुराहट सभी के लिये होती है !
और आँसू किसी खास के लिये होते है !


Rula Dene Wali Shayari For Girlfriend

Rula Dene Wali Shayari For Girlfriend

फुर्सत में याद करना हो तो कभी मत करना
मैं तनहा ज़रूर हु मगर फुजूल नहीं


fursat mein yaad karna hu to kabhi mat karna
mein tanha zarur hun magar fhojol nahi
फुर्सत में याद करना हो तो कभी मत करना
मैं तनहा ज़रूर हु मगर फुजूल नहीं


dost wo hai jo dosti ka haq dost ki gair maujudgi mein ada kre
aur gairon ki mahefil mein uski izzat ki hifazat kare
दोस्त वो है जो दोस्ती का हक दोस्त की गैर मौजूदगी में अदा करे
और गैरों की महफिल में उसकी इज्ज़त की हिफाज़त करे


ye kayaam kaisa hai rah mein tere ishq ko kiya huaa
abhi chaar kaatein chubhe nahi tere sab irade badal gaye


ये कयाम कैसा है रह में तेरे इश्क को किया हुआ
अभी चार काटें चुभे नहीं तेरे सब इरादे बदल गए


har baat teri maano na mumkin hai
zidh chod de aye dil to ab bachha nahi raha
हर बात तेरी मानु न मुमकिन है
जिद छोड़ दे ए दिल अब तो बचचा नहीं रहा


azeeb tarah se gujar rahi h zindagi
socha kuch kiya kuch huaa kuch aur mila kuch

अजीब तरह से गुजर रही है ज़िन्दगी
सोचा कुछ किया कुछ हुआ कुछ और मिला कुछ


wo anjaan chala hai jannat ko paane ki khatir
be khabar ko ith,tela kar do ki maa baap ghar par hai

वो अनजान चला है जन्नत को पाने की खातिरबे
खबर को इत्तेला कर दो की माँ बाप घर पर है


uff uske rothne ki adayen bhi gajab ki thi
baat baat pe ye kahena soch lo phir mein baat nahi karungi

उफ़ उसके रोठने की अदाएँ भी गजब की थी
बात बात पे ये कहना शोच लो फिर मैं बात नहीं करूंगी


Rulane Wali Shayari For Boyfriend

Rulane Wali Shayari For Boyfriend

हर बात तेरी मानु न मुमकिन है
जिद छोड़ दे ए दिल अब तो बचचा नहीं रहा


बीते लम्हों की बीती बातों को याद कर
न जाने कैसे सो रहा हूँ और
तेरे मासूम चेहरे से दिल लगा कर
अब भी में रो रहा हूँ।


उनके लिए कल तक जो प्यार बेसुमार था
वो आज कहते है ……
शायद वो मेरे इस भोले दिल पर चढ़ा एक ख़ुमार था।


प्यार में कितना धोखा है हाय तुझे बता नहीं सकता
एक बेवफा ने दिया जो गम हमे वो तुझसे जता नहीं सकता
जिंदगी के हर मोड़ पर अब वो गम हमे सताता है
दिल में लगी उस आग को पेट्रोल बनकर और जलाता है


दर्द था बड़ा इस छोटे दिल में
पर फिर भी ये दिल आँहे उनके लिए भरता रहा
ख़ामोश रह कर सहा सबकुछ
पर फिर भी दुआएँ ये उनके लिए करता रहा


जिंदगी में भर कर जहर
पूछते हो तकलीफ हमारी
हंसी के काबिल है ….
ऐसी सादगी ये तुम्हारी


अपनी भूख को मार कर माँ बेटे को खिलाया करती थी
खुद ना सोती पहले बेटे को सुलाया करती थी
मगर आज वो इतनी दूर जा चुकी है
की ये दुरी अक्सर उस बेटे को रुलाया करती थीं


चोट लगी अगर मुझे तो तू रो देती थी
मेरे आंसुओ को पोंछ मुझे अपनी हंसी दे देती थी
पर आज जो तू मेरे साथ नहीं है
मेरे माथे पे तेरा जो तेरा हाथ नहीं है
मेरी इस बेरंग जिंदगी में कोई बात नहीं है


सुना था जब कोई चीज टूटती है
तो वो आवज जरूर करती है
मगर ये बात दिल पर क्यों नहीं लागु होती
इसका टूटना तो आंसुओ की आज तक दबा लेता है।


तेरी सादगी के सब दीवाने है
तेरी चाह में बने कई अफ़साने है
इन अफ्सनो के जो दीवाने है
उनमे एक हम भी परवाने है


जुर्म ये था की हम उनकी हर अदा के दीवाने थे
और इस दीवानगी की सजा उन्होंने हमे
हमारा दिल तोड़ कर दी।

Other Posts :-

Love Judai Shayari In Hindi
Emotional Rishte Shayari
अलविदा शायरी | Alvida Shayari In Hindi

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *