India Shayari

20210711 121934

[ 131+ Latest ] Emotional Rishte Shayari | रिश्ते शायरी In Hindi

Hello, Friends Are You Looking For Rishte Shayari And Tute Rishte Shayari. So Today We Have Brought the Best Collection Of Rishte Shayari in Hindi. This Collection Contains Various Types Of Shayari Like Badalte Rishte Shayari, Rishte Shayari Images, Shayari On Rishte, Zindagi Rishte Shayari. Also, Share These With Your Friends.

Rishte Shayari Images

Rishte Shayari Images

अभी गुमनाम हु तो रिश्ता तोड़ लिया है मुझसे
ग़र कल को मशहूर हो गया तो कोई रिश्ता मत निकाल लेना


एक मिनट लगता हैं।
रिशतो का मज़ाक उड़ाने में।
और सारी उम्र बीत जाती हैं।
एक रिश्ते को बनाने में।


हर पल के रिश्ते का वादा हैं तुमसे।
अपनापन कुछ इतना ज्यादा हैं तुमसे ।
कभी ना सोचना की भूल जाएंगे तुम्हें ।
जिंदगी भर का साथ देगे ये वादा हैं तुमसे।


मुस्कुराहट का कोई मोल नहीं होता।
रिश्ते का कोई तोल नहीं होता।
इंसान तो मिल जाते है हमें हर मोर पर।
लेकिन हर कोई आप कि तरह अनमोल नहीं होता।


अ़शक उनकी आँखों के करीब होते हैं।
रिश्ते दर्द के जिसको होते हैं।
दौलत अपने दिल की लुटा दी है जिसने।
कोई कहते हैं कि वो गरीब होते हैं।


रिश्ते में दुनियां तो आती जाती रहती हैं।
फिर भी दोस्ती दिलो को मिला देती हैं।
वो दस्ती ही क्या जिसमे नाराजगी ना हो।
पर सच्ची दोस्ती दोस्तों को मना ही लेती हैं।


कोई-टूटे तो उसे सजाना सिखो।
कोई-रुठे तो उसे मनाना सिखो।
रिश्ते तो मिलते हैं मुकद्दर से।
बस उन्हें खूबसूरती से निभाना सिखो।


खामोश चेहरे पर हजारों पेहरे होते हैं।
हंसती आँखों में भी जख्म गेहरे होते हैं।
जिनसे अक्सर रुठ जाते है हम।
असल में उनसे ही रिश्ता गहरे होते हैं।


कोई किसी का नहीं इस दुनियां में।
मैने पैसो से रिश्ते को बनते देखा है।
मैले हो जाते हैं रिश्ते भी लिवासो की तरह हैं।
कभी कभी इनको भी मुहब्बत से धोया कीजिए।


किसी को नजरों में न बसाओ।
क्योंकि नजरों में सिर्फ सपने बसते हैं।
बसाना ही हैं तो दिल में बसाओ।
क्योंकि दिल में सिर्फ अपने बसते हैं।


Shayari On Rishte

Shayari On Rishte

खुदा से हमारा रिश्ता भी चश्मे और निगाह सा है
वो जब साथ होता है सब कुछ साफ़ नज़र आता है


रिवाज तो यही है दुनिया का मिल जाना बिछड़ जाना,
तुम से ये कैसा रिस्ता है ना मिलते हो ना बिछड़ते हो।


मजबूरियों से लड़कर रिश्तों को समेटा है,
कौन कहता है मुझे रिश्तें निभाने नहीं आते।


बहुत अजीब हो गए हैं ये रिस्ते आज कल,
सब फुरसत में हैं पर वक़्त किसी के पास नहीं


कुछ रिश्ते जिंदगी बदल देते है,
मिले तब भी ना मिले तब भी।


होश का पानी छिड़को मदहोशी की आँखों पर,
अपनों से कभी ना उलझो गैरों की बातों पर।


सारी ज़िन्दगी रखा रिश्तों का भरम,
कोई अपने सिवा अपना ना मिला।


वक्त कुछ यूँ कट गया,
हम दोनों के हिस्से आधा-आधा बंट गया…


साथ छोड़ने वालों को तो एक बहाना चाहिए,
वरना निभाने वाले तो मौत के दरवाजे तक साथ नही छोड़ते.


शब्द उतने ही बाहर निकालने चाहिए,
जिन्हें वापिस भी लेना पड़े तो खुद
को तकलीफ ना हो


Tute Rishte Shayari

Tute Rishte Shayari

कुछ रूठे हुए लम्हें कुछ टूटे हुए रिश्ते,
हर कदम पर काँच बन कर जख्म देते हैं।


रखे रखे हो गए पुराने तमाम रिश्ते
कहाँ किसी अजनबी से रिश्ता नया बनाएँ


सरहदें रोक न पाएँगी कभी रिश्तों को
ख़ुश्बूओं पर न कभी कोई भी पहरा निकला


कोई रिश्ता जब खामोसी से टूटता है तो
साथ में कोई न कोई एक शक़्स भी टूट जाता है


रिश्ता होने से रिश्ता नहीं बनता
रिश्ता निभाने से रिश्ता बनता है


एक अच्छा “रिश्ता हमेंशा हवा” की तरह होना चाहिए
खामोश” मगर हमेशा “आसपास”


न तेरी शान कम होती और न तेरा रूतबा घटा होता,
जो गुस्से में कहा, वही हँस के कहा होता


रिश्तों को शिकायते नही,
समझदारी बनाएँ रखती है।


Zindagi Rishte Shayari

Zindagi Rishte Shayari

दरख्तों से ताल्लुक का हुनर सीख ले इंसान,
जड़ों में ज़ख्म लगते हैं तो टहनियाँ सूख जाती हैं।


मैं सितारा नहीं हूँ सूरज हूँ
गहरा रिश्ता है मेरा मिट्टी से


इन रातों से अपना रिश्ता जाने कैसा रिश्ता है
नींदें कमरों में जागी हैं ख़्वाब छतों पर बिखरे हैं


रिश्तों की दलदल से कैसे निकलेंगे
हर साज़िश के पीछे अपने निकलेंगे


दामन किसी का हाथ से जाता रहा मगर
इक रिश्ता-ए-ख़याल है जो टूटता नहीं


तलब’ बड़ी ही अज़िय्यत का काम होता है
बिखरते टूटते रिश्तों का बोझ ढोना भी


रिश्तों का ज़रा ख्याल रखना
तभी रिश्ते आपका ख्याल रखेंगे


कुछ इस तरह खूबसूरत रिश्ते टूट जाया करते हैं,
दिल भर जाता है तो लोग रूठ जाया करते हैं


छुपे-छुपे से रेहते हैं सरेआम नही होते,
कुछ रिशते सिर्फ अहसास हैं, उनके नाम नही होते।


Rishte shayari in hindi

Rishte shayari in hindi

कुछ रिश्ते जिंदगी बदल देते है,
मिले तब भी ना मिले तब भी।


अगर नए रिश्ते न बनें तो, मलाल मत करना,
पुराने टूट ना जायें बस, इतना ख्याल रखना।


जिनकी संगत मैं ख़ामोश संवाद होते है,
अक्सर वो रिश्ते बहुत ही ख़ास होते हैं।


कभी-कभी कुछ रिश्ते इस कदर घायल कर देते है,
कि अपने ही घर लौट पाना मुश्किल हो जाता है…


कुछ रिश्ते दरवाज़े खोल जाते है,
या तो दिल के, या तो आँखों के।


यूं तो सब कुछ सलामत है इस दुनिया में ।
बस कुछ रिश्ते टूटे-टूटे से नजर आते हैं ।।


रिश्ते आजकल रोटी की तरह हो गए है
ज़रा सी आंच तेज़ क्या हुई
जन बुनकर राख हो जाते है


शर्त थी रिश्तों को बचाने की,
“और” यही वजह थी मेरे हार जाने की


Other Posts :-

Best Sad Poetry in Hindi
Emotional Death Shayari in Hindi
Kismat Shayari In Hindi

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *