India Shayari

20210922 082322

[150+] Izhaar Shayari In Hindi | Izhar e Mohabbat Shayari

Hello, Friends Are You Looking For Pyar Ka Izhaar Shayari. So Today We Have Brought the Best Collection Of Izhar e Mohabbat Shayari. This Collection Contains Various Types Of Shayari Like Pyaar ka Izhaar Images, Pyaar ka Izhaar, Pyar ka Izhaar Kaise Kare Shayari, Pyar ka Izhar Karne Wali Shayari Etc. Also, Share These With Your Friends.

 

Pyar Ka Izhaar Shayari

Pyar Ka Izhaar Shayari

 

मैं अपनी मुहब्बत का शिकवा तुमसे कैसे करुं,
मुहब्बत तो हमने की हैं तुम तो बेकसूर हो


उनकी ये ख्वाहिश है कि
हम ज़ुबां से इज़हार करे
हमारी ये आरज़ू है कि वो
दिल की ज़ुबां समझ ले

Unki ye khwahish ki
Hum zuban se izhar kare
Humari ye aarzoo ki wo
Dil ki zuban smjh le.



दिल लुट जाने का इज़हार ज़रूरी तो नही
ये तमाशा सर-ए-बाज़ार ज़रूरी तो नही


Dil lut jane ka izhar zaroori to nhi,
Ye tamasha sar-ae-bazaar zaroori to nahi


अच्छा करते है वो लोग
जो मोहब्बत का इज़हार नही करते
खामोशी से मर जाते है
मगर किसी को बदनाम नही करते


Accha krte hai wo log
Jo mohabbat ka izhar nahi krte
Khamoshi se mar jate hai


तेरी आवाज़ से प्यार है हमें,
इतना इज़हार हम कर नहीं सकते..
हमारे लिए तू उस रब की तरह है,
जिसका दीदार हम कर नहीं सकते…

Teri aawaz se pyar hai hume
Itna izhaar hum kar nahi skte
Humare liye tu us rab ki tarah hai
Jiska didar hum kar nahi skte


बड़ी मुश्किल में हूँ कैसे इज़हार करूँ
वो तो खुशबु है उसे कैसे गिरफ्तार करूँ
उसकी मोहब्बत पर मेरा हक़ नहीं लेकिन
दिल करता है आखिरी सांस तक उसका इंतज़ार करूँ”


Badi mushkil me hu kaise izhar karu
Wo to khushboo hai use kaise giraftaar karu
Uski mohabbat par mera haq nahi lekin
Dil karta hai aakhiri saans tak uska intzaar karu.


ये बाहें हमें जब अपनी पनाहों में बुलाती है
हमें अपनी कसम हम हर सहारा भूल जाते है


Ye bahe hume jab apni panaho me bulati hai,
Hume apni kasam hum har sahara bhool jate hai.


चांदनी रात के खामोश सितारों की कसम
दिल में अब तेरे सिवा कोई भी आबाद नहीं

Chandni raat ke khamosh sitaro ki kasam
Dil me ab tere siwa koi bhi aabad nahi


उन्होने अपने लबो से लगाया और छोड़ दिया,
वे बोले इतना जहर काफी है तेरी कतरा कतरा मौत के लिए।


Unhone apne labo se lagaya aur chhod diya,
Ve bole itna zehar kafi hai teri katra katra maut ke liye


दिल उनके लिए ही मचलता है।
ठोकर खाता है और संभलता है।
किसी ने इस कदर कर लिया दिल पर कब्जा।

दिल मेरा है पर उनके लिए ही धड़कता है।


Dil unke liye hi machalta hai
Thokar khaata hai aur smbhlta hai
Kisi ne is kadar kar liya dil par kabza
Dil mera hai par unke liye hi dhadkta hai.


आँखों की गहराई को समझ नहीं सकते।
होठों से हम कुछ कह नहीं सकते।
कैसे बयां करें हम आपको ये दिल-ए- हाल।
कि तुम्हीं हो जिसके बगैर हम रह नहीं सकते।

Aankho ki gehrai ko smjh nahi skte,
Hotho se hum kuch kh nhi skte
Kaise bya kare hum aapko ye dil-ae-haal
Ki tumhi ho jiske bgair hum rah nahi skte


उन को Chahna मेरी मोहब्बत है
उन्हें कह न Paana मेरी मजबूरी है
वो खुद क्यों नही Samjhta
मेरे दिल की बात को
क्या प्यार का Izhaar करना ज़रूरी है…


Unko chahna meri mohabbat hai
Unhe kah naa pana meri majboori hai
Wo khud kyu nahi smjhta mere dil ki baat ko
Kya pyar ka izhar karna zroori hai


जो कभी ना बोला
आज वो बात कहता हूँ,
आज मैं इकरार करता हूँ,
मैं तुमसे प्यार करता हूँ,

Jo kabhi na bola
Aaj wo baat khta hu
Aaj main ikraar karta hu
Main tumse pyar krta hu.


कमी है बहुत मुजमे,
ये हम जानते है,
किसी और की नहीं बस
अपने दिल की मानते है,

Kami hai bhut mujhme
Ye hum jante hai
Kisi aur ki nahi bus
Apne dil ki mante hai


Izhar e Mohabbat Shayari

Izhar e Mohabbat Shayari

बडी शिद्धत के साथ प्यार का इज़हार करने चले थे

पर उसने मुझ से पहले एैसा करके , ज़ुबां पर ताला लगा दिय


याद रुकती नही रोक पाने से,
दिल मानता नही किसी क समझाने से,
रुक जाती है धड़कने आपको भूल जाने से,
इसलिये आपको याद करते है जीने के बहाने से!


Yaad rukti nahi rok pane se
Dil manta nahi kisi ke smjhaane se
Ruk jati hai dhadkane apko bhool jane se
Isliye aapko yaad Karte hai jeene ke bahane se


दीवाना हूं तेरा मुझे इंकार नहीं,
कैसे कह दूं कि मुझे तुमसे प्यार नहीं,
कुछ शरारत तो तेरी नजरों में भी थी,
मैं अकेला ही तो इसका गुनाहगार नहीं!!!


Deewana hu tera mujhe inkaar nahi
Kaise kh du ki mujhe tumse pyar nhi
Kuch shararat to teri nzro me bhi thi
Main akela hi to iska gunhegaar nahi


रब से आपकी खुशी मांगते हैं,
दुआओं में आपकी हंसी मांगते हैं,
सोचते हैं आपसे क्या मांगे,
चलो आपसे उम्र भर की मोहब्बत मांगते हैं!!!

Rab se aapki khushi mangte hai
Duao me aapki hasi mangte hai
Sochte hai aapse kya mange
Chalo aapse umr bhar ki mohabbat mangte hai


अपनी मोहब्बत से सजाना है तुझको,
कितनी चाहत है यह बताना है तुझको,
राहों में बिछा के मोहब्बत अपनी,
प्यार के सफर पर ले जाना है तुझको!!!


Apni mohabbat se sajana hai tujhko
Kitni chahat hai yeh batana hai tujhko
Raho me bicha ke mohabbat apni
Pyar ke safar par le jana hai tujhko


यूँ तो सपने बहुत हसीन होते है,
पर सपनो से प्यार नहीं करते,
चाहते तो तुम्हे हम आज भी है,
बस इज़हार नहीं करते !

Yu to sapne bhut haseen hote hai
Par sapno se pyar nahi krte
Chahte to tumhe hum aj bhi hai
Bus izhar nahi krte.


रब से फरियाद बस
तेरी एक नजर की करते हैं।
अपनी धड़कनों पर हम
तेरा ही नाम लिखते हैं।


Rab se faryad bus
Teri ek nazar ki karte hai
Apni dhadkano par hum
Tera hi naam likhte hai.


दिल की जो हालत है मेरी
वो मैं उससे कह नहीं सकता,
काश वो इस एहसास को समझे
कि उसके बिना मैं रह नहीं सकता।


Dil ki jo halat hai meri
Wo main usse kah nahi skta
Kash wo is ehsaas ko smjhe
Ki uske bin main rh nahi skta


इस एहसास में ख़ुशी है
पर इसे मैं दिखा नहीं सकता,
प्यार करता हूँ तुमसे
मैं चाह कर भी छुपा नहीं सकता।

Is ehsaas me khushi hai
Par ise main dikha nahi skta
Pyar krta hu tumse
Main chah kar bhi chhupa nahi skta


कुछ सोचु तो तेरा ही ख्याल आता हैं,
कुछ बोलू तो तेरा नाम आता हैं,
कब तक मैं छुपाऊँ अपने दिल की बात,
तेरी हर एक अदा पे हमे प्यार आता हैं

Kuch sochu to tera hi khyaal aata hai
Kuch bolu to tera nam aata hai
Kab tak main chhupau apne dil ki baat
Teri har ek ad ape hume pyar aata hai


तेरी जरूरत है जिंदगी में मेरी,
तेरी चाहत है जिंदगी में मेरी,
कुछ ना मिले तो जी लेंगे,
पर तू ना मिली तो नहीं चलेगी जिंदगी मेरी

Teri zaroort hai zindagi me meri
Teri chaht hai zindagi me meri
Kuch na mile to jee lenge
Par tu na mili to nahi chalegi zindgi meri.


Pyar Ka Izhaar Shayari In Hindi

Pyar Ka Izhaar Shayari In Hindi

मुझे मेरे कल कि फिक्र तो आज भी नही है,
पर ख्वाहिश तुझे पाने कि कयामत तक रहेगी


वो करीब ही ना आये इज़हार क्या करते
खुद बने निशाना तो शिकार काया करते
मर गए हम पर खुली रही आँखे
इससे ज्यादा किसी का इन्तजार क्या करते


वो मुझ तक आने की राह चाहता है
लेकिन मेरी मोहब्बत का गवाह चाहता है
खुद आते जाते मौसमो की तरहा है
और मेरे इश्क़ की इंतेहः चाहता है


आप होते जो मेरे साथ तो कैसा होता
बात बन जाती अगर बात तो कैसा होता
सबने माँगा है मुझसे मुहब्बत का जवाब
आप करते जो सवालात तो कैसा होता


जीत की खातिर बस जुनून चाहिए
जिसमे उबाल हो ऐसा खून चाहिए
यह आसमान भी आएगा जमीन पर
बस इरादों मे जीत की गूँज चाहिए


उन्हे इज़हार करना नही आया उन्हे हमे प्यार करना नही आया

हम बस देखते ही रह गये

और वक़्त को थमना नही आया

वो चलते चलते इतने दूर चले गये हमे रोकना भी नही आया !


इज़हार क्यों किया था,इकरार क्यों किया था,

जब जाना बहुत दूर,फिर प्यार क्यों किया था,

ना थी कोई रंजिश,और ना थी कोई शिकायत,

जब हार गया दिल तुझपे,ये वार क्यों किया था


झुकी हुई नज़रों से इज़हार कर गया कोई,

हमें खुद से बे-खबर कर गया कोई,

युँ तो होंठों से कहा कुछ भी नहीं..

आँखों से लफ्ज़ बयां कर गया कोई


इज़हार, एतबार और इनकार, फासले अल्फ़ाज़ों के हैं,

जब भी चाहो गुफ़तगू कर लो, मामलें तो हम मिज़ाज़ों के हैं।

कोई सोंचता नहीं इम्तिहान लेने के खातिर,

टूटते कितने दिल हम ख्यालों के हैं।


टकरा ही गई मेरी नज़र उनकी नज़र से धोना ही पङा

हाथ मुझे कल्ब-ओ-जिगर से इज़हार-ए-मोहब्बत न किया

बस इसी डर से ऐसा न हो गिर जाऊँ कहीं उनकी नज़र से ऐ


दिल की आवाज़ को इज़हार कहते है,

झुकी निगाह को इकरार कहते है,

सिर्फ पाने का नाम इश्क नहीं, कुछ खोने को भी प्यार कहते है.


कब उनकी पलकों से इज़हार होगा ?

दिल के किसी कोने में हमारे लिए प्यार होगा;

गुज़र रही है हर रात उनकी याद में, कभी तो उनको भी हमारा इंतज़ार होगा


इज़हार-ए-इश्क करें तो कॆसे॥

वो नज़रें मिलाता नहीं पर लफ्ज़ मेरा साथ देते नहीं।

अब तुम ही बताओ हम उनसे इज़हार-ए-इश्क करें तो कॆस


ज़ख़्म इतने गहरे हैं इज़हार क्या करें;

हम खुद निशाना बन गए वार क्या करें; मर गए हम मगर खुली रही ये आँखें;

अब इससे ज्यादा उनका इंतज़ार क्या करें


मैं लफ़्ज़ों से कुछ भी इज़हार नही करता,

इसका मतलब ये नई के मैं तुझे प्यार नही करता

चाहता हूँ मैं तुझे आज भी पर तेरी सोच मे अपना वक़्त बेकार नही करता


Izhar e Mohabbat Shayari In Hindi

Izhar e Mohabbat Shayari In Hindi

इज़हार कर देना वरना,

एक ख़ामोशी उम्रभर का इंतजार बन जाती है


कसूर तो था ही इन निगाहों का,
जो छुपके से दीदार कर बैठा,
हमने तो ख़ामोश रहने की ठानी थी,
बेवफा ये ज़ुबान इज़हार कर बैठा


Kasoor to tha hee in nigaahon ka,
Jo chhupke se deedaar kar baitha,
Hamne to khaamosh rahne kee thaanee thee,
Bewafa ye zubaan izahaar kar baitha


कसूर तो था ही इन निगाहों का,
जो चुपके से दीदार कर बैठा,
हमने तो खामोश रहने की ठानी थी,
पर कमबख्त ये ज़ुबान इज़हार कर बैठा


Kasoor to tha hee in nigaahon ka,
Jo chupake se deedaar kar baitha,
Hamane to khaamosh rahane kee thaanee thee,
Par kamabakht ye zubaan izahaar kar baitha.


नहीं करता इज़हारे-ऐ-इश्क़ वो,
पर रहता है मेरे करीब है वो,
देखूँ उसकी आँखों में तो शर्मा जाता है वो,
हाय मेरा यार भी कितना कमाल है


Nahin karta izahaare-ai-ishq vo,
Par rahta hai mere kareeb hai vo,
Dekhoon uski aankhon mein to sharma jaata hai vo,
Haay mera yaar bhee kitana kamaal hai


एक ख्वाहिश सिरहाने रख दो ना,
आज मुझ पे तुम इनायत कर दो ना,
ज़रा ख़ामोशी से,
तुम इजहार -ऐ-मोहब्बत कर दो ना


Ek khvaahish sirahaane rakh do na,
Aaj mujh pe tum inaayat kar do na,
Zara khaamoshee se,
Tum ijahaar -ai-mohabbat kar do na


कब उनकी आँखों से इज़हार होगा,
दिल के किसी कोने में हमारे लिए प्यार होगा,
गुज़र रही है रात उनकी याद में,
कभी तो उनको भी हमारा इंतज़ार होगा


Kab unkee aankhon se izahaar hoga,
Dil ke kisee kone mein hamaare liye pyaar hoga,
Guzar rahee hai raat unkee yaad mein,
Kabhee to unko bhee hamaara intazaar hoga.


काश वह आयें इश्क़ का इज़हार करने,
मेरी कब्र पे इक दिन,
मैं भी एक और ज़िन्दगी की दुआ मांगू,
उनपे क़ुर्बान होने के लिए


Kaash vah aayen ishq ka izahaar karne,
Meree kabr pe ik din,
Main bhee ek aur zindagee kee dua maangoo,
Unpe qurbaan hone ke lie


इश्क़ के इज़हार में,
हर चाँद रुस्वाई तो है,
पर करूँ क्या अब,
तबियत आप पर आई तो है


Ishq ke izahaar mein,
Har chaand rusvaee to hai,
Par karoon kya ab,
Tabiyat aap par aaee to hai


एक नज़र की आस में खुद रह जाओ गे,
इस तरह मत देखो वरना देखते रह जाओ गे,
बिना झिझक कह दो आज अपने दिल की बात,
सोचो गए तो ज़िन्दगी भर सोचते रह जाओ गे


Ek nazar kee aas mein khud rah jao ge,
Is tarah mat dekho varna dekhte rah jao ge,
Bina jhijhak kah do aaj apane dil kee baat,
Socho gae to zindagee bhar sochte rah jao ge.


आँखों की गहराई को समझ नहीं सकते,
होंटो से कुछ कह नहीं सकते,
कैसे बयां करे हम आपको ऐ हल-ए-दिल की,
तुम्ही हो जिसके बगैर हम रह नहीं सकते


Aankhon kee gaharaee ko samajh nahin sakte,
Honto se kuchh kah nahin sakte,
Kaise bayaan kare ham aapako ai hal-e-dil kee,
Tumhee ho jiske bagair ham rah nahin sakte.


दिल की आवाज़ को इज़हार-ऐ-इश्क़ कहते हैं,
झुकी निगाहों को इक़रार-ऐ-इश्क़ कहते हैं,
सिर्फ ज़ुबान से कहना ही इज़हार-ऐ-मोहब्बत नहीं होता,
दबे होंटों की मुस्कराहट को भी इक़रार-ऐ-इश्क़ कहते हैं


Dil kee aavaaz ko izahaar-ai-ishq kahate hain,
Jhukee nigaahon ko iqaraar-ai-ishq kahate hain,
Sirf zubaan se kahna hee izahaar-ai-mohabbat nahin hota,
Dabe honton kee muskaraahat ko bhee iqaraar-ai-ishq kahate hain.


Beautiful Pyar Ka Izhaar Shayari

Beautiful Pyar Ka Izhaar Shayari

अच्छा करते हैं वो लोग जो मोहब्बत का इज़हार नहीं करते,

ख़ामोशी से मर जाते हैं मगर किसी को बदनाम नहीं करते


आँखों का काजल, जुल्फों का गजरा बना लिया

खुश्बू की तरह हमने तुमको दिल में बसा लिया.


एक ख्वाहिश सिरहाने रख दो ना, आज मुझ पे तुम इनायत कर दो ना,

ज़रा ख़ामोशी से, तुम इजहार -ऐ-मोहब्बत कर दो ना.


कब उनकी आँखों से इज़हार होगा, दिल के किसी कोने में हमारे लिए प्यार होगा,

गुज़र रही है रात उनकी याद में, कभी तो उनको भी हमारा इंतज़ार होगा.


उनकी ये ख़्वाहिश है, हम जुबां से इज़हार करे,

हमारी ये आरज़ू है, वो दिल की जुबां समझ ले.


मुझे मेरे कल कि फिक्र तो आज भी नही है,

पर ख्वाहिश तुझे पाने कि कयामत तक रहेगी.


प्यार में कैसे कोई सुधबुध खो देता, तुमको देखकर जाना हमने जब से इश्क हुआ,

तब से खुदा से सिर्फ तुमको हीं माँगा हमने


जब से तुमको देखा है, चारों ओर छाए हो तुम हीं तुम

अब बस यही तमन्ना है, सदा के लिए मेरे बन जाओ तुम


मुहब्बत का कभी इज़हार करना ही नहीं आया,

मेरी कश्ती को दरिया पार करना ही नहीं आया


दिल की आवाज़ को इज़हार कहते है, झुकी निगाह को इकरार कहते है,

सिर्फ पाने का नाम इश्क नहीं, कुछ खोने को भी प्यार कहते है.


चलो इश्क के दरिया में डूब जाएं तुम तुम न रहो ,

मैं मैं न रहूँ, हम दोनों अब एक हो जाएं


Heart Touching Izhar e Mohabbat Shayari

Heart Touching Izhar e Mohabbat Shayari

जिस्म से होने वाली मुहब्बत का इज़हार आसान होता है !
रुह से हुई मुहब्बत को समझाने में ज़िन्दगी गुज़र जाती है


बेशक तुझे भी प्यार मुझसे बेहद है,
मगर तू चाहता है इज़हार में करूँ,
तेरी इसी अदा पर तो यह दिल फ़िदा है,
फिर में इज़हार करने से इंकार कैसे करू


इंतज़ार, एतबार, इज़हार,
सब तो किया मेने,
और कैसे बताऊ की तुमसे
कितना इश्क़ किया मेने।


उन को चाहना मेरी मोहब्बत है
उन्हें कह न पाना मेरी मजबूरी है
वो खुद क्यों नही समझता मेरे दिल की बात को
क्या प्यार का इज़हार करना ज़रूरी है


मैं बार बार नए तरीके से,
अपने इश्क़ का इज़हार करता था,
वो न जाने क्यों समझ नहीं पाता था,
बस हंस कर बात टाल देता था।


इश्क़ वही है जो हो एकतरफा हो
इज़हार-ऐ-इश्क़ तो ख्वाहिश बन जाती है
है अगर मोहब्बत तो आँखों में पढ़ लो
ज़ुबान से इज़हार तो नुमाइश बन जाती है


डर लगता है इज़हार करने से,
कितने पसंद हो तुम,
क्योकि ज़िंदगी बदल देगी हमारी,
तुम्हारा इकरार भी और इंकार भी।


मैं डरता हु ज़माने से, तभी तो ना इज़हार करता हु,
मगर मिलने की कोशिश में तुमसे हर बार करता हु,
नहीं मालूम तुझको मेरे दिल में है तेरा घर,
मैं अपनी जान से ज्यादा तुझसे प्यार करता हु


जो लबो पे आके ठहर गई वो बात,
मुझे बताती क्यू नहीं,
इश्क़! नफरत! गुस्सा! फ़िक़्रे!
वो कुछ मुझे जताती क्यू नहीं।


हर बार बोलू मैं ही क्या,
कभी तुम भी तो बोलो,
हर बार प्यार जताऊ मैं ही क्या,
कभी तुम भी तो इज़हार करो।


अकेले में तो बहुत बार
किया था इज़हार इश्क का,
एक बार दुनिया के
सामने भी जता दिया होता।


है इश्क़ तो इश्क़ का
इजहार होना चाहिए,
और है गर वार तो खंजर दिल
के आर-पार होना चाहिए।


मुझसे नफ़रत है अगर
तुमको तो इज़हार करो,
वरना मै करता हूं इज़हार
तुम इकरार करो।


बताओ तुम आज,
नींदों में क्या लोगी,
मेरा इंतज़ार या
मेरे प्यार का इज़हार।


पढ़ता नही वो मेरे
इजहार की चिट्ठियां कभी,
डरता है वो कि पढ़ कर
पिघल ना जाये कहीं।


कौन कहता है मोहब्बत इकरार की गुलाम होती है,
ये कम्बख्त बीमारी तो आँखों से बयां होती है,
लफ़्ज़ों से कहा इज़हार हो पाता है मोहब्बत का,
मोहब्बत करने वालो के लिए तो आँखे ही ज़ुबान होती है।

ALSO, READ ( ये भी पढ़े ):-

Romantic Husband Wife Shayari

Ishq Shayari Collection

Purpose Shayari For Girlfriend And Boyfriend

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *