India Shayari

20210711 133121

[ 65+ Motivational ] Hosla Shayari In Hindi | Hosla Shayari

Hello, Friends Are You Looking For Hosla Shayari. So Today We Have Brought the Best Collection Of Hausla Shayari. Also, Share These With Your Friends.

Hosla Shayari

Hosla Shayari

हौसलों से मिलता है सफलता का मुकाम,
आसान नहीं है इस दुनिया कमाना नाम


रिश्ते जताने लोग मेरे घर भी आयेंगे,
फल आये है तो पेड़ पर पत्थर भी आयेंगे,
जब चल पड़े हो सफर को तो फिर हौसला रखो
सहरा कहीं, कहीं समन्दर भी आयेंगे


डर मुझे भी लगा फासला देख कर,
पर मैं बढ़ता गया रास्ता देखकर,
खुद-ब-खुद मेरे नजदीक आती गई
मेरी मंजिल मेरा हौसला देखकर


जब टूटने लगे हौसला तो बस ये याद रखना,
बिना मेहनत के हासिल तख्त-ओ-ताज नहीं होते,
ढूँढ लेना अँधेरे में ही मंजिल अपनी दोस्तों
क्योंकि जुगनू कभी रौशनी के मोहताज नहीं होते


मेरी मंजिल मेरे करीब हैं,
इसका मुझे एहसास हैं,
गुमाँ नहीं मुझे इरादों पर अपने,
ये मेरी सोच और हौसलों का विश्वास हैं


हौसला हमारे विचारों में होता है,
दोस्त, इसे कोई नहीं तोड़ता है,
सफलता से निराशा आती है
पर तू खुद को प्रयास करने से क्यों रोकता


कुछ तो मजबूरियाँ रही होंगी,
यूँ कोई बेवफ़ा नहीं होता,
जी बहुत चाहता है सच बोले
क्या करें हौसला नहीं होता


मुश्किलें दिल के इरादे आजमाती है,
स्वप्न के परदे निगाहों से हटाती है,
हौसला मत हार गिर कर ऐ मुसाफ़िर
ठोकरे इंसान को चलना सिखाती है


Hausla Shayari

Hausla Shayari

जब भी तुम्हारा हौसला आसमान तक जाएगा,
याद रखना कोई ना कोई पंख काटने जरूर आएगा.


शह-ज़ोर अपने ज़ोर में गिरता है मिस्ल-ए-बर्क़
वो तिफ़्ल क्या गिरेगा जो घुटनों के बल चले


सदा एक ही रुख़ नहीं नाव चलती
चलो तुम उधर को हवा हो जिधर की


बढ़ के तूफ़ान को आग़ोश में ले ले अपनी
डूबने वाले तिरे हाथ से साहिल तो गया


वक़्त आने दे दिखा देंगे तुझे ऐ आसमाँ
हम अभी से क्यूँ बताएँ क्या हमारे दिल में है


जिन हौसलों से मेरा जुनूँ मुतमइन न था
वो हौसले ज़माने के मेयार हो गए


गुरूर आसमान तेरी ऊंचाइयों का मैं तोड़ दूंगा,

एक दिन इतना ऊपर उडूँगा की तुझे नीचे छोड़ दूंगा।


कह कर दिल ने मेरे कई दफा हौसलें बढ़ाए हैं,

ग़मों की धुप के आगे ख़ुशी के साए हैं।


Hard Work Hosla Shayari

Hard Work Hosla Shayari

वाकिफ़ कहाँ जमाना हमारी उड़ान से,
वो और थे जो हार गये आसमान से.


हवा ख़फ़ा थी मगर इतनी संग-दिल भी न थी
हमीं को शम्अ जलाने का हौसला न हुआ


हम परवरिश-ए-लौह-ओ-क़लम करते रहेंगे
जो दिल पे गुज़रती है रक़म करते रहेंगे


अपना ज़माना आप बनाते हैं अहल-ए-दिल
हम वो नहीं कि जिन को ज़माना बना गया


अभी से पाँव के छाले न देखो
अभी यारो सफ़र की इब्तिदा है


इन्ही ग़म की घटाओं से ख़ुशी का चाँद निकलेगा
अँधेरी रात के पर्दे में दिन की रौशनी भी है


हमे अब क्या गिराएंगी ये छोटी मोटी तकलीफें

हमने तो चलना भी ठोकर से सीखा है।


क्या हुआ जो कोशिशें नाकाम हो गई

मेरी धड़कने साँसे मेहनत और जूनून अब भी काम पर लगी हुई है।


मत करना कोशिश आँधियों

हमे अपने संग उड़ाने की मैंने उड़ान घमंड से नहीं हौसलों से भरी है।


Hausla Shayari For Struggle

Hausla Shayari For Struggle

जिन हौसलों से मेरा जुनूँ मुतमइन न था
वो हौसले ज़माने के मेयार हो गए


आसमान को देखना हैं तो ज़मीन पर बैठ क्यों ….
खोल दे अपना पंखो को….ज़माना है उड़ान का ….


जिंदा हैं हौंसले ख़्वाब टूट नेके बाद भी ….
शर्मिंदा हैं मुश्किलें इन सबके बाद भी


हौसला बढ़ाने वाली शायरी: दुःख होने से पगले क्या हैं घाबराणा ….
जीवन तो प्रारम्भ ही हुआ है रोने से।


हौसला बढ़ाने वाली कविता: लिखे जाते हैं मेहनत की स्याही से जिनके इरादे
नहीं होते हैं कभी खाली पन्ने उनकी किस्मत में


मंज़िले मिलेगी यकीनन परिंदों को……बोलते हैं फैले हुए उनके पर….
अक्सर खामोश रहते हैं वो लोग…..जिनके हुनर बोलते हैं ज़माना


– हो सकती है जिन्दगी में मोहोब्बत दोबारा भी..

बस होंसला चाहिए फिर से बर्बाद होने का।


उड़ो तो ऐसे उड़ो की फक्र हो बुलंदी को,

झुको तो ऐसे झुको की बंदगी भी नाज़ करे।


गुरूर आसमान तेरी ऊंचाइयों का मैं तोड़ दूंगा,

एक दिन इतना ऊपर उडूँगा की तुझे नीचे छोड़ दूंगा।


Hosla Shayari In Hindi

Hosla Shayari In Hindi

तीर खाने की हवस है तो जिगर पैदा कर
सरफ़रोशी की तमन्ना है तो सर पैदा कर


कम नहीं होते हौसले किसी हकीम से,
हर तकलिफ में ताकत की दवा देते हैं।


हम वो हैं जो गिर कर भी ,
मुकम्मल खङे हैं,
किउकी हमें पता है हमारा मंजिले दूर नहीं हैं.


ज़िन्दा हैं हौंसले ख़्वाब टूट नेके वजूद,
कियकी हम वो हैं जिसपे मुश्किलें शर्मिदा हैं…


लौट ही जाते हैं अँधेरे जब रोशनी मुकद्दर में हो तो,
खुल ही जाते हैं रास्ते जब हौंसले बुलन्द हो तो।


जो मिलता हैं आसानी से उसकी ख्वाहिश किसे हैं ….
जिसको पाना हैं सिद्धार्त से उनके लिए क्यों बैठे रहना हैं ..


जिन्दगी में कभी किसी बुरे दिन से रूबरू हो जाओ तो!!
इतना होंसला जरुर रखना कि दिन बुरा था जिन्दगी नहीं


बुलंद हो होंसला तो मुठी में हर मुकाम हे,
मुश्किले और मुसीबते तो ज़िंदगी में आम हे


बचा नहीं होंसला तुम्हें पा कर फिर खोने का
चले ही जाना था तो इस दिल में घर बनाया क्यों !


Other Posts –
Best Motivational Status In Hindi
Motivational Shayari In Hindi
Karma Quotes In Hindi

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *