India Shayari

20210930 184147 11zon

[ 157+ Latest ] Daru Status In Hindi | Daru Quotes

Hello, Friends Are You Looking For Daru Status In Hindi. So Today We Have Brought the Best Collection Of Daru Quotes. This Collection Contains Various Types Of Shayari Like Daru Quotes Image, Dosti Daru Status In Hindi, Daru Status Marathi, Daru Hindi Status, Daru Status In Punjabi, Punjabi Daru Status, Daru Status Whatsapp Etc. Also, Share These With Your Friends.

Daru Status In Hindi

Daru Status In Hindi

कुछ तो शराफत सीख ले इश्क शराब से,
बोतल पे लिखा तो मैं जानलेवा हूँ


Yun Bigdi Baheki Baaton Ka,
Koi Shauq Nahi Hai Mujhko,
Woh Purani Sharab Ke Jaisi Hai
Asar Sar Se Utarta Hi Nahi.


यूँ बिगड़ी बहकी बातों का
कोई शौक़ नही है मुझको,
वो पुरानी शराब के जैसी है
असर सर से उतरता ही नहीं।


Tum Kya Jano Sharab Kaise Pilayi Jati Hai,
Kholne Se Pehle Botal Hilayi Jati Hai,
Phir Aawaj Lagayi Jaati Hai Aa Jao Tute Dil Walo,
Yahan Dard-e-Dil Ki Dawa Pilayi Jati Hai.


तुम क्या जानो शराब कैसे पिलाई जाती है,
खोलने से पहले बोतल हिलाई जाती है,
फिर आवाज़ लगायी जाती है आ जाओ टूटे दिल वालों,
यहाँ दर्द-ए-दिल की दवा पिलाई जाती है।


Gham Iss Kadar Barhe Ke Ghabra Ke Pee Gaya,
Iss Dil Ki Bebasi Pe Taras Kha Ke Pee Gaya,
Thhukra Raha Tha Mujhe Badi Der Se Zamana,
Main Aaj Sab Jahaan Ko Thhukra Ke Pee Gaya.


ग़म इस कदर बढ़े कि घबरा के पी गया,
इस दिल की बेबसी पे तरस खा के पी गया,
ठुकरा रहा था मुझे बड़ी देर से ज़माना,
मैं आज सब जहान को ठुकरा के पी गया।


Nasha Ham Kiya Karte Hain
Ilzaam Sharab Ko Diya Karte Hain,
Kasoor Sharab Ka Nahin Unka Hai
Jiska Chehra Ham Jaam Mein Talash Kiya Karte Hain.

नशा हम किया करते हैं
इल्ज़ाम शराब को दिया करते हैं,
कसूर शराब का नहीं उनका है
जिसका चेहरा हम जाम में तलाश किया करते हैं।


Wo Bhi Din The Jab Hum Bhi Piya Karte The,
Yun Na Karo Humse Peene Pilane Ki Baat,
Jitni Tumhare Jaam Mein Hai Sharab,
Utni Hum Paimane Mein Chod Diya Karte The.

वो भी दिन थे जब हम भी पिया करते थे,
यूँ न करो हमसे पीने पिलाने की बात,
जितनी तुम्हारे जाम में है शराब,
उतनी हम पैमाने में छोड़ दिया करते थे।


Nasha Pila Ke Girana To
Sabko Aata Hai,
Mazaa To Tab Hai Ki
Girton Ko Thaam Le Saaqi.


नशा पिला के गिराना तो
सब को आता है,
मज़ा तो तब है कि
गिरतों को थाम ले साक़ी।


Apni Nashili Nigahon Ko,
Jara Jhuka Dijiye Janaab
Mere Majhab Me Nasha Haraam Hai.


अपनी नशीली निगाहों को,
जरा झुका दीजिए जनाब
मेरे मजहब में नशा हराम है।


Tamaam Raaten Gujar Gayeen Mayakhaane Mein Peete-Peete
Magar Afasos
Na Botal Khatm Huyee,
Na Kissa Khatm Hua
Aur Na Hee Tere Dard Ka Vo Hissa Khatm Hua.

तमाम रातें गुजर गयीं मयखाने में पीते-पीते
मगर अफ़सोस
न बोतल ख़त्म हुयी,
न किस्सा ख़त्म हुआ
और न ही तेरे दर्द का वो हिस्सा ख़त्म हुआ।


हर किसी बात का जवाब नहीं होता
हर जाम इश्क में ख़राब नहीं होता
यूँ तो झूम लेते है नशे में रहने वाले
मगर हर नशे का नाम शराब नहीं होता..

Har Kisi Baat Ka Jawaab Nahi Hota,
Har Jaam Ishk Me Kharab Nahi Hota
Yun To Jhum Lete Hain Nashe Me Rahane Wale
Magar Har Nashe Ka Naam Sharab Nahi Hota


Kaun Hai Jisane May Nahee Chakkhee
Kaun Jhoothee Qasam Uthaata Hai,
Mayakade Se Jo Bach Nikalata Hai
Teree Aankhon Mein Doob Jaata Hai 

कौन है जिसने मय नही चक्खी
कौन झूठी क़सम उठाता है,
मयकदे से जो बच निकलता है
तेरी आँखों में डूब जाता है


Daru Quotes

Daru Quotes

कुछ सही तो कुछ खराब कहते हैं;
लोग हमें बिगड़ा हुआ नवाब कहते हैं.


तेरी आँखों के ये जो प्याले हैं,
मेरी अंधेरी रातों के उजाले हैं,
पीता हूँ जाम पर जाम तेरे नाम का,
हम तो शराबी बे-शराब वाले हैं.

Teri Ankhon Ke Ye Jo Pyaale Hai,
Meri Andheri Raato Ke Ujaale Hai.
Peeta Hun Jaam Par Jaam Tere Naam Ka,
Ham To Sharabi Be-Sharab Wale


Har Baar Sochata Hoon
Chhod Doonga Main Peena Ab Se,
Magar Teree Aad Aatee Hai
Aur Ham Mayakhaane Ko Chal Padate Hain.

हर बार सोचता हूँ
छोड़ दूंगा मैं पीना अब से,
मगर तेरी आड़ आती है
और हम मयखाने को चल पड़ते हैं


शायरी वो नही लिखते हैं,
जो शराब से नशा करते हैं
शायरी तो वो लिखते हैं,
जो यादों से नशा करते हैं

Shayari Wo Nahi Likhate Hai,
Jo Sharab Se Nasha Karate Hai.
Shayari To Wo Likhate Hai,
Jo Yaado Se Nasha Karate Hain


पूरा अब मेरा ये ख़्वाब हो जाये,
लिख दू उनके दिल पे किताब हो जाये,
ना मयकदे की जरूरत हो ना मयखाने की,
अगर नज़र से पिला दो शराब हो जाये

Pura Ab Mera Ye Khwaab Ho Jaaye,
Likh Du Unake Dil Pe Kitab Ho Jaaye.
Na Maykade Ki Jarurat Ho Naa Maykhane Ki,
Agar Nazar Se Peela Do Sharab Ho Jaaye


Haalee’ Nashaat-E-Nagama-O-May Dhoondhate Ho Ab
Aaye Ho Vaqt-E-Subah..
Rahe Raat Bhar Kahaan

‘हाली’ नशात-ए-नग़मा-ओ-मय ढूंढते हो अब
आये हो वक़्त-ए-सुबह..
रहे रात भर कहाँ


Mere Ittaqa Ka Bais,
Tu Hai Meree Naatavaanee
Jo Mein Tauba Tod Sakata,
To Sharaab Khaar Hota

मेरे इत्तक़ा का बाइस,
तु है मेरी नातवानी
जो में तौबा तोड़ सकता,
तो शराब ख़ार होता


Raat Hum Piye Huye The Magar,
Aap Ki Aankhein Bhi Sharabi Thi,
Fir Humare Kharab Hone Mein,
Aap Hi Kahiye Kya Kharabi Thi.

रात हम पिए हुए थे मगर,
आप की आँखें भी शराबी थीं,
फिर हमारे खराब होने में,
आप ही कहिये क्या खराबी थी।


Dosti Daru Status In Hindi

Dosti Daru Status In Hindi

कुछ सही तो कुछ खराब कहते हैं;
लोग हमें बिगड़ा हुआ नवाब कहते हैं


Hamane Hosh Sambhaala To Sambhaala Tumako
Tumane Hosh Sambhaala To Sambhalane Na Diya

हमने होश संभाला तो संभाला तुमको
तुमने होश संभाला तो संभलने न दिया


Tauheen Na Karna Kabhi Kah Kar Kadawa Sharab Ko,
Kisi Gamjada Se Poochhiyega Ismen Kitni Mithas Hai.


तौहीन न करना कभी कह कर कड़वा शराब को
किसी ग़मजदा से पूछियेगा इसमें कितनी मिठास है।


मदहोश हम हरदम रहा करते हैं,
और इल्ज़ाम शराब को दिया करते हैं,
कसूर शराब का नहीं उनका है यारों,
जिनका चेहरा हम हर जाम में
तलाश किया करते हैं..

Madahosh Ham Hardam Raha Karate Hai,
Aur Ilzaam Sharab Ko Diya Karate Hai.
Kasur Sharab Ka Nahi Unaka Hai Yaaro,
Jinaka Chehara Ham Har Jaam Me
Talash Kiya Karate Hai


Pyaas Jajbaaton Kee
Mayakhaane Mein Kahaan Bujhatee Hai
E Saakee
Ham To Is Bharee Mahafil Mein
Tanhaeeyaan Baantane Chale Aate Hain.
प्यास जज्बातों की

मयखाने में कहाँ बुझती है
ए साकी
हम तो इस भरी महफ़िल में
तन्हाईयाँ बाँटने चले आते हैं।


पूरा अब मेरा ये ख़्वाब हो जाये,
लिख दू उनके दिल पे किताब हो जाये
ना मयकदे की जरूरत हो ना मयखाने की,
अगर नज़र से पिला दो शराब हो जाये..

Pura Ab Mera Ye Khwaab Ho Jaaye,
Likh Du Unake Dil Pe Kitaab Ho Jaaye.
Na Maykade Ki Jarurat Ho Na Maykhane Ki,
Agar Nazar Se Peela Do Sharab Ho Jaaye


ज़ाहिद शराब पीने से ,
क़ाफ़िर हुआ मैं क्यों,
क्या डेढ़ चुल्लू पानी में ,
ईमान बह गया

Zahid Sharab Peene Se,
Kafir Hua Main Kyu
Kya Dedh Chullu Pani Me,
Imaan Bah Gaya


Ham To Badnaam Huye Kuchh Is Kadar Dosto,
Ki Paani Bhi Piyen To Log Sharab Kahate Hain.

हम तो बदनाम हुए कुछ इस कदर दोस्तों,
की पानी भी पियें तो लोग शराब कहते हैं


बैठे हैं दिल में ये अरमां जगाये,
के वो आज नजरों से अपनी पिलाये,
मजा तो तब ही आये पीने का यारो,
शराब हम पियें और नशा उनको हो जाए..

Baithe Hai Dil Me Ye Araman Jagaaye
Ke Wo Aaj Nazaro Se Apani Pilaye.
Maza To Tab Hi Aaye Peene Ka Yaaro,
Sharab Ham Peeye Aur Nasha Unako Ho Jaaye.


पी के रात को हम उनको भुलाने लगे,
शराब में गम को मिलाने लगे,
दारू भी बेवफा निकली यारों,
नशे में तो वो और भी याद आने लगे..

Pee Ke Raat Ko Ham Unako Bhulane Lage,
Sharab Me Gam Ko Milane Lage.
Daru Bewafa Nikali Yaaro,
Nashe Me To Wo Aur Bhi Yaad Aane Lage


हर जाम पी गया मैं,
ऐ दर्दे-जिंदगानी,
फिर भी बड़ा तरसा हूं,
कुछ और शराब दे दो.

Har Jaam Pee Gaya Main,
E Darde-Zindagani,
Fir Bhi Tarasa Hun Kuchh Aur Sharab De Do


Latest Daru Status In Hindi

Latest Daru Status In Hindi

हम तो बदनाम हुए कुछ इस कदर;
कि पानी भी पियें तो लोग शराब कहते हैं


रात गुम सी है मगर चैन खामोश नही,

कैसे कह दूँ आज फिर होश नही,

ऐसा डूबा तेरी आँखों की गहराई में ,

हाथ में जाम है मगर पीने का होश नही


दूसरों के लिए ख़राब ही सही,

हमारे लिए तो ज़िन्दगी बन जाती है,

सौ ग़मों को निचोड़ने के बाद ही,

एक कतरा शराब बन जाती है


यादों से सलाम लेता हूँ,

वक्त के हाथ थाम लेता हूँ,

ज़िन्दगी थम जाती है पल भर के लिए,

जब हाथों में शराब-ए-जाम लेता हूँ


दिल के दर्द से बड़ा कोई दर्द नहीं होता,

आशिकों का शराब के सिवा कोई हमदर्द नहीं होता,

जब दिल टूटता है तो आँसू उनके भी निकलते हैं,

जो कहते हैं कि “मर्द को दर्द नहीं होता.


मैं तोड़ लेता अगर वो गुलाब होती!

मैं जवाब बनता अगर वो सवाल होती!

सब जानते हैं मैं नशा नहीं करता,

फिर भी पी लेता अगर वो शराब होती


पीते थे शराब हम उसने छुड़ाई अपनी कसम देकर,
महफ़िल में आये तो यारों ने पिला दी उसकी कसम देकर


परदा तो होश वालों से किया जाता है हुज़ूर,
तुम बेनक़ाब चले आओ हम तो नशे में हैं।


कभी देखेंगे ऐ जाम तुझे होठों से लगाकर,
तू मुझमें उतरता है कि मैं तुझमें उतरता हूँ।


आये हैं समझाने लोग हैं कितने दीवाने लोग
दैर-ओ-हरम में चैन जो मिलता क्यूँ जाते मयखाने लोग।


आज तू कल कोई और होगा सद्र-ए-बज़्म-ए-मय
साकिया तुझसे नहीं,हम से है मैखाने का नाम


कहते हैं पीने वाले मर जाते हैं जवानी में,
हमने तो बुजुर्गों को जवान होते देखा है मैखाने में।


मेरी तबाही का इल्जाम अब शराब पर है,
करता भी क्या और तुम पर जो आ रही थी बात


नतीजा बेवजह महफिल से उठवाने का क्या होगा,
न होंगे हम तो साकी तेरे मैखाने का क्या होगा।


छलक जाने दो पैमाने मैखाने भी क्या याद रखेंगे,
आया था कोई दिवाना अपनी मोहब्बत को भुलाने।


ह गई जाम में अंगड़ायाँ लेके शराब,
हम से माँगी न गई उन से पिलाई न गई


Daru Quotes In Hindi

Daru Quotes In Hindi

हर शाम का साथी हैं शराब
फिर क्यों लोग कहते हैं इसे ख़राब


छीनकर हाथों से जाम वो इस अंदाज़ से बोली,
कमी क्या है इन होठों में जो तुम शराब पीते हो।


Chheen Kar Haatho Se Jaam Wo Is Andaaz Se Boli,
Kami Kya Hai Inn Hothho Mein Jo Tum Sharaab Peete Ho


नशा तब दोगुना होता है जनाब,
जब जाम भी छलके और आँख भी छलके।


Nasha Tab Doguna Hota Hai Janaab,
Jab Jaam Bhi Chhalake Aur Aankh Bhi Chhalake


मय छलक जाए तो कमजर्फ हैं पीने वाले,
जाम खाली हो तो साकी तेरी रूसवाई है।


May Chhalak Jaye To KamJarf Hain Peene Wale,
Jaam Khali Ho To Saqi Teri Ruswayi Hai


निगाहे-मस्त से मुझको पिलाये जा साकी,
हसीं निगाह भी जामे-शराब होती है।


Nigaah-e-Mast Se Mujhko Pilaye Ja Saaqi,
Haseen Nigaah Bhi Jaam-e-Sharab Hoti Hai.


असर न पूछिए साकी की मस्त आँखों का,
ये देखिये कि कोई होशमंद बाकी है


Asar Na Poochhiye Saaki Ki Mast Aankho Ka,
Ye Dekhiye Ki Koyi Hoshmand Baaki Hai


यह साकी ने सागर में क्या चीज दे दी,
कि तौबा हुई पानी-पानी हमारी।


Ye Saqi Ne Sagar Mein Kya Cheej De Di,
Ki Tauba Huyi Paani-Paani Humari.


एक पल में ले गई मेरे सारे ग़म खरीद कर,
कितनी अमीर होती है ये बोतल शराब की।


Ek Pal Mein Le Gayi Mere Saare Gham Khareed Kar,
Kitni Ameer Hoti Hai Ye Botal Sarab Ki


ग़मे-दुनिया में ग़मे-यार भी शामिल कर लो,
नशा बढ़ता है शराबें जो शराबों में मिलें।


Gham-e-Duniya Mein Gham-e-Yaar Bhi Shamil Kar Lo,
Nasha Barhta Hai Sharabein Jo Sharabon Se Mile


जाहिद ने मैकशी की इजाज़त तो दी मगर,
रखी है इतनी शर्त खुदा से छुपा के पी।


Zahid Ne Maikashi Ki Ijazat To Dee Magar,
Rakhi Hai Itni Shart Khuda Se Chhupa Ke Pee


पीता हूँ जितनी उतनी ही बढ़ती है तिश्नगी,
साक़ी ने जैसे प्यास मिला दी हो शराब में।


Peeta Hoon Jitni Utni Hi Barhti Hai Tishngi,
Saqi Ne Jaise Pyaas Mila Di Ho Sharab Mein


उनकी आंखें यह कहती रहती हैं
लोग नाहक शराब पीते हैं.

Unaki Ankhe Yah Lahati Rahati Hai,
Log Nahak Sharab Peete Hai.


मुझ तक कब उनकी बज़्म में आता था दौर-ए-जाम
साक़ी ने कुछ मिला न दिया हो शराब में.

Mujh Tak Kab Unaki Bazm Me Aata Tha Daure-E-Jaam,
Saki Ne Kuchh Mila Naa Diya Ho Sharab Me


तुम्हारी आँखों की तौहीन है, ज़रा सोचो
तुम्हारा चाहने वाला शराब पीता है.


Tumhari Ankhon Ki Tauhin Hai, Jara Socho,
Tumhaara Chahane Wala Sharaab Peeta Ho


आए थे हँसते खेलते मय-ख़ाने में ‘फ़िराक़’
जब पी चुके शराब तो संजीदा हो गए

Aaye The Hansate Khelate May-Khane Me “Firak”
Jab Pee Chuke Sharab To Sanjida Ho Gaye


मत पूछ उसके मैखाने का पता ऐ साकी,
उसके शहर का तो पानी भी नशा देता है.

Mat Punchh Usake Maikhane Ka Pata E Saki,
Usake Shahar Ka Pani Bhi Nasha Deta Hai.


तबसरा कर रहे हैं दुनिया पर
चदं बच्चे शराब खाने में

Tabsara Kar Rahe Duniya Par,
Chand Bachche Sharab Khane Me.


एसी शराब पी है कि इक दिन मेरा निशां
मस्जिद में खानकाह में ढूँढा करेंगे लोग.

Esi Sharab Pee Hai Ki Ek Din Mera Nishan,
Masjid Me Khankaah Me Dhundha Karenge Log


शराब पीने से काफ़िर हुआ मैं क्यूं,
क्या डेढ़ चुल्लू पानी में ईमान बह गया.

Sharab Peene Se Kafir Hua Mai Kyu,
Kya Dedh Chullu Pani Me Imaan Bah Gaya


उन्हीं के हिस्से में आती है ये प्यास अक्सर,
जो दूसरों को पिलाकर शराब पीते हैं.

Unhi Ke Hisse Me Aati Hai Ye Pyaas Aksar,
Jo Dusaro Ko Peelakar Sharab Peete Hai


निगाह-ए-साक़ी से पैहम छलक रही है शराब,
पिओ की पीने-पिलाने की रात आई है.

Nigah-E-Saki Se Paiham Chhalak Rahi Hai Sharab,
Peeo Ki Peene-Peelane Ki Raat Aayi Hai


ख़ुद अपनी मस्ती है जिस ने मचाई है हलचल
नशा शराब में होता तो नाचती बोतल.

Khud Apani Masti Hai Jis Ne Machayi Hai Halachal
Nasha Sharab Me Hota To Nachati Botal


आमाल मुझे अपने उस वक़्त नज़र आए
जिस वक़्त मेरा बेटा घर पी के शराब आया.

Aamaal Mujhe Apane Us Waqt Nazar Aaye
Jis Waqt Mera Beta Ghar Pee Ke Sharab Aaya


ज़ाहिद शराब पीने से , क़ाफ़िर हुआ मैं क्यों,
क्या डेढ़ चुल्लू पानी में , ईमान बह गया?

Zahid Sharab Peene Se, Kafir Hua Main Kyu?
Kya Dedh Chullu Pani ME, Imaan Bah gaya


कभी मौक़ा लगे, कड़वे दो घूँट चख लेना
ज़रा तेरे लिये शराब छोड़ आए हैं.

Kabhi Mauka Lage, Ladawe Do Ghunt Chakh Lena,
Jara Tere Liye Sharab Chhod Aaye Hai


बे पिए ही शराब से नफ़रत
ये जहालत नही तो और क्या है


Be Peeye Hi Sharab Se Nafarat
Ye Jahaalat Nahi To Aur Kya Hai


एक घूँट शराब की जो मैंने लबों से लगायी,
तो आया समझ कि इससे भी कड़वी है तेरी सच्चाई

Ek Ghut Sharab Ki Jo Maine Labo Se Lgayi,
To Aaya Samajh Ki Isase Bhi Kadvi Hai Teri Sachchyi.


थोड़ी सी पी शराब थोड़ी उछाल दी,
कुछ इस तरह से हमने जवानी निकाल दी,

Thodi Si Pee Sharab Thodi Uchhal Di,
Kuchh Is Tarah Se Hamane Jawaani Nikal Di.


लोग जिंदगी में आये और चले गए
लेकिन शराब ने कभी धोखा नहीं दिया.


Log Zindagi Me Aaye Aur Chale Gaye,
Lekin Sharab Ne Kabhi Dhokha Nahi Diya


पीने से कर चुका था मैं तौबा मगर ‘जलील’
बादल का रंग देख के नीयत बदल गई

Peene Se Kar Chuka Tha Main Tauba Magar “Zalil”
Baadal Ka Rang Dekh Ke Niyat Badal Gayi.


पहले तुझ से प्यार करते थे
अब शराब से प्यार करते हैं.

Pahale Tujhe Se Pyaar Karate The,
Ab Sharab Se Pyar Karate Hai.


2021 Dosti Daru Status In Hindi

2021 Dosti Daru Status In Hindi

शराब, शबाब और दोस्त
और कुछ नहीं चाहिए


इतनी पीता हूँ कि मदहोश रहता हूँ,
सब कुछ समझता हूँ पर खामोश रहता हूँ,
जो लोग करते हैं मुझे गिराने की कोशिश,
मैं अक्सर उन्ही के साथ रहता हूँ।


तुम क्या जानो शराब कैसे पिलाई जाती है,
खोलने से पहले बोतल हिलाई जाती है,
फिर आवाज़ लगायी जाती है आ जाओ टूटे दिल वालों,
यहाँ दर्द-ए-दिल की दवा पिलाई जाती है।


कौन आता है मयखाने में
पीने को ये शराब साकी,
हम तो तेरे हुस्न का
दीदार किया करते हैं।


ग़म इस कदर बढ़े कि घबरा के पी गया,
इस दिल की बेबसी पे तरस खा के पी गया,
ठुकरा रहा था मुझे बड़ी देर से ज़माना,
मैं आज सब जहान को ठुकरा के पी गया


ना दूर हमसे जाया करो, दिल तड़प जाता है,
आपके ख्यालों में ही हमारा दिन गुज़र जाता है,
पूछता है यह दिल एक सवाल आपसे,
कि क्या दूर रहकर भी आपको हमारा ख्याल आता है


कैसे छोड़ दूं इसे
ये कोई इश्क़ थोड़ी हैं,
नशे में भी संभाल के रखती हैं,
दारू हैं कोई मज़ाक थोड़ी हैं।


मुझे जिंदगी तो मस्त जीनी है,
बस अब गम भुलाने के लिए,
मुझे यारों दारू पिनी है।


चल आ उसकी बेवफाई के किस्से सुनाऊ तुझे,
थोड़ी देर तो बैठ मेरे साथ,
आजा दारू पिलाऊं तुझे।


दारू के बोतल जैसे है हम,
किसी को बहुत पसंद है,
तो किसी को मेरे नाम से ही ऎलार्जी है।


दारू बदनाम कर गई,
फ़िक्र मिटाकर आराम लिख गई,
दर्द भूला कर मदहोश कर गई।


दवा, दारू ओर इश्क़ की बीमारी जिसे लग जाती हैं ना दोस्त,
उसकी जिंदगी तबाह ही समझों तुम।


ये भी कोई जीना है,
न पीने को दारू है,
न घुमाने को हसीना है।


पी लेते हैं दारू,
जला लेते हैं सिगरेट,
हम तुम्हारी तरह ऐब नहीं छुपाते


पकौड़े निभाते हैं दोनों से वफा,
ना चाय वाले खफा,
ना दारू वाले खफा।


वो शराब भी बेवफा निकली यारो,
जिसे भुलाने के लिये पिए,
पीनी के बाद वो और भी याद आने लगे।


ना पीते है दारू,
ना पीते है व्हिस्की लेकिन जब हो जाये गम,
तब पीते है देशी रम।


सपनो का हमने अम्बर बना रखा है,
और जनाब देशी है हम,
इसीलिए दारू का हमने चैम्बर बना रखा है।


जनाब,
दारू तो बेकार ही बदनाम है,
इश्क़ की लत भी कुछ कम नहीं है।


Other Posts :-

Kasam Shayari | Kasam Todne Wali Shayari
Khafa Shayari | Khafa Shayri In Hindi
Shikayat Shayari In Hindi | शिकायत भरी शायरी

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *