India Shayari

20210925 093516

[155+] Aashiqui Shayari | Aashiq Shayari | Shayari Aashiqui 2

Hello, Friends Are You Looking For Aashiqui Shayari. So Today We Have Brought the Best Collection Of Aashiq Shayari. This Collection Contains Various Types Of Shayari Like Aashiqui Shayari Image, Aashiqui 2 Shayari In Hindi, Shayari Aashiqui, Shayari Aashiqui 2 Etc. Also, Share These With Your Friends.

Aashiqui Shayari

Aashiqui Shayari

झुकाया तुने झुके हम बराबरी ना रही
ये बन्दगी हुई ऐ दोस्त आशिकी ना हुई !


मेरे ख्वाबों को जैसे कोई मुकाम मिल गया,
जिंदगी को यह सुबह और शाम मिल गया,
जगी दिल में फिर एक चाहत की किरण,
वैलेंटाइन डे का मैसेज मिलेगा मेरे नाम से सनम.


दिल करता है जिंदगी तुझे दे दूँ,
जिंदगी की सारी खुशियाँ तुझे दे दूँ,
दे दे अगर तू भरोसा अपने साथ का,
तो यकीं मान ये सांस भी तुझे दे दूँ..


आपके आ जाने से जिंदगी कितनी खूबसूरत है,
दिल में बसाई है जो वो आपकी सूरत है,
दूर जाना नहीं हमेशा कभी भूलकर भी,
हमें हर कदम पर आपकी जरूरत हैं..


कुछ रोशन है ज़िन्दगी तेरे आने से,
कुछ बहकी सी है फ़िज़ा तेरे आने से,
तू मुक्कद्दर है मेरे प्यार का,
झूम उठा है मेरा दिल तेरे आने से,
अब आये हो तो कभी लौट कर मत जाना,
टूट कर बिखर जाऊंगा तेरे चले जाने से..


मुझे खामोश राहों में तेरा साथ चाहिए,
तन्हा है मेरा हाथ तेरा हाथ चाहिए,
जूनून ए इश्क को तेरी ही सौगात चाहिए,
मुझे जीने के लिए तेरा ही साथ चाहिए..


कोई अच्छी सी सज़ा दो मुझको
चलो ऐसा करो भूला दो मुझको
तुमसे बिछडु तो मौत आ जाये
दिल की गहराई से ऐसी
दुआ दो मुझको


एक आदत सी हो गयी है चोट खाने की
भीगी हुए पलकों संग मुस्कुराने की
काश अंजाम वफ़ा का पहले ही जानते
तो कोशिश भी नहीं करते दिल लगाने की


जो मोहब्बत तुम्हारे दिल में है
उसे जुबां पर लाओ
और बयां कर दो आज बस तुम
कहो और कहते ही
जाओ हम बस सुनें ऐसे
बेज़ुबान कर दो


आदत है या तलब
इश्क है या चाहत
तू दिल मे है या साँसों मे
तू दीवानगी है या मेरी आशिकी
तू ज़िन्दगी है या फिर एक किस्सा
पर जो भी है सिर्फ तू है


तेरे शहर में आके बेनाम हो गए
तेरी चाहत में अपनी मुस्कान को खो गए
जो डूबे तेरी मोहब्बत में तो ऐसे डूबे की
जैसे तेरी आशिकी के गुलाम ही हो गए


मोहब्बत में महबूबा संग
आशिक आवारा हो गया
डुबा दिया दरिया में दुश्मनों ने
कुदरत के कमाल से किनारा हो गया


कोई देखे नही आशिकी उम्र भर
मनाती रही मै नाखुशी इस कदर
नाम उसका लबों पर ना आया कभी
यूँ निभाती रही आशिकी उम्र भर


हमारे जख्मो की वजह भो वो है
हमारे जख्मो की दवा भी वो है
नमक जख्मो पे लगाये भी तो किया हुआ
मोहब्बत करने की वजह भी तो वो है


मैं आशिक हूं दिवाना क्या
बिगाडे़गा मेरा जमाना
सबको सिखा दूंगा प्यार करके
प्यार को निभाना


आदत है या तलब
इश्क है या चाहत
तू दिल मे है या साँसों मे
तू दीवानगी है या मेरी आशिकी
तू ज़िन्दगी है या फिर एक किस्सा
पर जो भी है सिर्फ तू है


Aashiq Shayari

Aashiq Shayari

दिसंबर की सर्दी है तेरी आशिकी जैसी
याद भी करूँ तो पूरा बदन कांपता है


मुस्कान हो तुम इन होठों की,
धड़कन हो तुम इस दिल की,
हँसी हो तुम इस चेहरे की,
जान हो तुम इस रूह की..


मोहब्बत के बिना ज़िन्दगी फिजूल है,
पर मोहब्बत के भी अपने उसूल है,
कहते है मिलती है मोहब्बत में बहुत उल्फतें,
पर आप हो महबूब तो सब कबुल है.


रिश्तों से बड़ी चाहत क्या होगी,
दोस्ती से बड़ी इबादत क्या होगी,
जिसे आप जैसा प्यार मिल जाये,
उसे जिंदगी से शिकायत क्या होगी..


जीने के लिए जान जरुरी हैं,
हमारे लिए तो आप जरुरी हैं,
मेरे चेहरे पे चाहे गम हो,
आपके चेहरे पे मुस्कान जरुरी हैं.


एक अजनबी से मिले थे,
फिर मिलते चले गए,
करनी थी सिर्फ दोस्ती उनसे,
मगर वो हमारे दिल की धड़कन बनते चले गए


वादा ना करो अगर निभा ना सको
चाहो ना उसको जिसे तुम पा ना सको
दोस्त तो दुनिया में बहुत होते है
पर एक खास रखो
जिसके बिना तुम मुस्कुरा ना सको


यादों का यह कारवां हमेशा रहेगा
दूर जाते हुए भी प्यार वही रहेगा
माफ़ करना मिल न सके आपसे
यकीन रखना अखियों में
इंतज़ार वही रहेगा !


सच्चों की कमी झूठों की है
भरमार जमाना ख़राब है
झूठों के साथ साथ सच्चे
आशिक भी बर्बाद है !


फूल खिलते रहे ज़िन्दगी की राह में
हंसी चमकती रहे आपकी निगाह में
कदम कदम पर मिले ख़ुशी की बहार आपको
दिल देता है ये ही दुआ बार बार आपको


दिल की आवाज़ को इज़हार कहते हैं
झुकी निगाह को इनकार कहते हैं
सिर्फ पाने का नाम इश्क नहीं
कुछ खोने को भी प्यार कहते हैं


 मेरा इश्क़ था या फिर
दीवानगी की इंतेहा
कि तेरे ही करीब से गुज़र
गए तेरे ही ख्याल में


फ़ुलो के साथ कांटे नसीब होते है
खुषी के साथ गम भी नसीब होता है
यु तो मजबुरी ले डुबती हर आशिक को
वरना खुषी से बेवफ़ा कौन होता है !


बहुत महँगी हुई अब तो वफा
लोग कहाँ मिलते हैं जो सच्चा प्यार करें
मोहब्बत तो बन गई है अब सजा
आशिक कहाँ मिलते हैं जो संग संग
इश्क का दरिया पार करें !


उनकी चाल ही काफी थी इस दिल
के होश उड़ने के लिए
अब तो हद हो गयी जब से वो
पाँव में पायल पहनने लगे !


इस कदर तुझ से प्यार हुआ
की हम बन बैठे आशिक
तुम ही बता दो ए बेवफा
क्या कमी थी मेरे प्यार में आखिर


Aashiqui Shayari In Hindi

Aashiqui Shayari In Hindi

हाँ है, तो मुस्कुरा दे ना है तो नज़र फेर ले
यूँ शरमा के आँखें झुकाने से उलझनें बढ़ रही हैं


HAMARE JAKHMO KI WAJAH BHI TO WO HAI
HAMARE JAKHMO KI DAWA BHI TO WO HAI
NAMAK JAKHMO PE LAGAYE BHI TO KIYA HUAA
MOHABBAT KARNE KI WAJHA BHI TO WO HAI

हमारे जख्मो की वजह भो वो है
हमारे जख्मो की दावा भी वो है
नमक जख्मो पे लगाये भी तो किया हुआ
मोहब्बत करने की वजह भी तो वो है


DARD HAI DIL MEIN PAR EHSAAS NAHI HOTA
ROTA HAI DIL JAB WO PASS NAHI HOTA
BARBAAD HO GAYE HUM UNKI MOHABBAT MEIN
AUR WO KEHTE HAI IS TARAH SE PIYAAR NAHI HOTA

दर्द है दिल में पर एहसास नहीं होता
रोता है दिल जब वो पास नहीं होता
बर्बाद हो गए हम उनकी मोहब्बत में
और वो कहते है इस तरह से प्यार नहीं होता


AASHIQUI SABR-TALAB AUR TAMANNA BETAAB
DIL KA KIYA RANG KARO KHOON-E-JIGAR HONE TAK
HUM NE MANA KI TAGHAFUL NA KAROGE LEKIN
KHAAKH HO JAYENGE HUM TUM KO KHABAR HONE TAK

आशिकी सब्र-तलब और तमन्ना बेताब
दिल का किया रंग करू खूने-ए-जिगर होने तक
हम ने माना के तगाफुल ना करोगे लेकिन
ख़ाक हो जायेंगे हम तुम को खबर होने तक


EK AADAT SI HO GAYI HAI CHOT KHANE KI
BHEEGI HUE PALKO SANG MUSKURANE KI
KASH ANJAM WAFA KA PEHLE HI JANTE
TOH KOSHISH BHI NAHI KARTE DIL KAGANE KI

एक आदत सी हो गयी है चोट खाने की
भीगी हुए पलकों संग मुस्कुराने की
काश अंजाम वफ़ा का पहले ही जानते
तोह कोशिश भी नहीं करते दिल लगाने की


MEHKHANO KI YE MAY-KASHI TUM SE HAI
SHAYARO KI SHAYARI TUM SE HAI
JUDA APNI MANZILE TO KOI GUM NAHI
APNI TOAB AASHIQUI SIRF TUM SE HAI

म्हेखानो की ये मई-कासी तुम से है
शायरों की शायरी तुम से है
है जुदा अपनी मंजिले तो कोई गम नहीं
अपनी तो अब आशिकी सिर्फ तुम से है


TAMANNA SE NAHI TANHAI SE DARTE HAIN
PIYAAR SE NAHI RUSWAYI SE DARTE HAIN
MILNE KEE CHAHAT TO BAHUT HAI MAGAR
MILAN KE BAAD KI JUDAI SE DARTE HAIN

तमन्ना से नहीं तन्हाई से डरते है
पियार से नहीं रुसवाई से डरते है
मिलने की चाहत तो बहुत है मगर
मियन के बाद की जुदाई से डरते है


HAR KADAM HAR PAL SAATH HAI
DUR HOKE BHI HUM AAPKE PASS HAI
AAPKO HO NA HO PAR HUME AAPKI KASAM
AAPKI KAMI KA HAR PAL EHSAAS HAI


हर कदम हर पल साथ है दूर होक भी हम आपके पास है
आपको हो न हो पर हमे आपकी कसम
आपकी कमी का हर पल एहसास है


TUJHE DUR JAANE KA IRADA NA THA
SADA SAATH REHNE KA BHI VADA NA THA
TUM YAAD NA KAROGE TE JANTE THE HUM
PAR ITNI JALDI BHUL JAOGE AANDAJA NA THA

 

तुझसे दूर जाने का इरादा ना था
सदा साथ रहने का भी वादा ना था
तुम याद ना करोगे थे जानते थे हम
पर इतनी जल्दी भूल जाओगे अंदाजा ना था


KHAMOSHI KA EKTIYAAR KAR LENA
APNE DIL KO BEKARAAR KAR LENA
JO LENA ZINDAGI KA ASLI DARD
TO KISI SE BEPANAAH PIYAAR KAR LENA

ज़िन्दगी को इख्तियार कर लेना
अपने दिल को बेकरार कर लेना
जो लेना हो ज़िन्दगी का असली दर्द
तो किसी से बेपनाह प्यार कर लेना


MAJBURI MEIN JAB KOI JUDA HOTA HAI
ZARURI NAHI KE WO BEWAFA HOTA HAI
DE KAR AAPKI AANKHO MEIN AANSU
AKELE MEIN AAPSE BHI ZYADA ROTA HAI

मज़बूरी में जब कोई जुदा होता है
ज़रूरी नहीं के वो बेवफा होता है
दे कर आपकी आँखों में आंसू
अकेले में आपसे भी ज्यादा रोता है


जिंदगी की राहों में बहुत से यार मिलेंगे,
हम क्या हमसे भी अच्छे हजार मिलेंगे,
इन अच्छों की भीड़ में हमें ना भुला देना,
हम कहाँ आपको बार बार मिलेंगे..

Zindagi ki rahon mein bahot se yaar milenge,
Ham kya hamse bhi acche hazar milenge,
In achhon ki bhid mein hame na bhula dena,
Ham kahan apko bar bar milenge..


करनी है खुदा से एक गुज़ारिश,
तेरे प्यार के सिवा कोई बंदगी ना मिले,
हर जनम में साथी हो तुम जैसा,
या फिर कभी ज़िन्दगी ही ना मिले..

Karni hai khuda se ek gujharish,
Tere pyar ke siva koi bandagi na mile,
Har janam mein sathi ho tum jaisa,
Ya fir kabhi Zindagi hi na mile..


तुम्हारे साथ रहते रहते तुम्हारी चाहत सी हो गयी है,
तुमसे बात करते करते तुम्हारी आदत सी हो गयी है,
एक पल न मिले तो बेचैनी सी लगती है,
दोस्ती निभाते निभाते तुमसे मोहब्बत सी हो गयी है..

Tumhare saath rahate rahate tumhari chahat si ho gayi hai,
Tumse baat karte karte tumhari aadat si ho gayi hai,
Ek pal na mile to bechaini si lagti hai,
Dosti nibhate nibhate tumse mohobbat si ho gayi hai.


जहाँ देखूं सामने नजर आती हो तुम,
प्यार की परछाइयों से हमेशा याद आती हो तुम,
मेरे ख्वाबों की दुनिया में रहती हो तुम,
मेरे पास आकर मुस्कुराती हो तुम,
मोहब्बत की इन राहों में आके तड़पाती हो तुम,
प्यार हमें दे कर दूर चली जाती हो तुम..

Jahan dekhun samne nazar aati ho tum,
Pyar ki parchhaiyon se hamesha yaad aati ho tum,
Mere khwbon ki Duniya mein rahati ho tum,
Mere pas aakar muskurati ho tum,
Mohobbat ki in rahon mein aake tadpati ho tum,
Pyar hamen de kar door chali jaati ho tum


सवाल कुछ भी हो, जवाब तुम ही हो,
रास्ता कोई भी हो, मंज़िल तुम ही हो,
दुःख कितना ही हो, ख़ुशी तुम ही हो,
अरमान कितने भी हो, आरज़ू तुम ही हो,
गुस्सा कितना भी हो, प्यार तुम ही हो,
ख्वाब कोई भी हो, उस में तुम ही हो,
क्योंकि तुम ही हो, अब तुम ही हो,
मेरी आशिक़ी अब तुम ही हो..

Sawal kuchh bhi ho Jawab tum hi ho,
Rasta koi bhi ho,Manzil tum hi ho,
Dukh kitana hi ho,Khushi tum hi ho,
Arman kitane bhi ho,Arzoo tum hi ho,
Gussa kitana bhi ho,Pyar tum hi ho,
Khwab koi bhi ho,Us mein tum hi ho,
Kyon ki tum hi ho,Ab tum hi ho,
Meri ashiqui ab tum hi ho..


Aashiq Shayari In Hindi

Aashiq Shayari In Hindi

ज़िन्दगी आशिकों की आफत में
सजा मिली उनको इश्क मोहब्बत में !


नाम तेरा ऐसे लिख चुके है अपने वजूद पर कि
तेरे नाम का भी कोई मिल जाए
तो भी दिल धड़क जाता है

Naam tera aise likh chuke hai apne wajood par ki,
Tere naam ka bhi koi mil jaye
To bhi dil dhadak jata hai.


जानता हूँ उसके बिना जी नही पाऊंगा
उसका भी यही हाल है
मगर किसी और के लिए

Janta hu uske bina jee nahi paunga,
Uska bhi yahi haal hai
Magar kisi aur ke liye.


इश्क़ का ही तो
नशा होता है वरना
कौन कमबख्त सुनसान रास्तो पर मुस्कुराता है

Ishq ka hi to
Nasha hota hai warna
Kaun kambakht sunsaan raasto par Muskurata hai.


चुपके-चुपके रात-दिन आंसू बहाना याद है
हमको अब तक आशिकी का
वो ज़माना याद है

Chupke-chupke raat-din aansu bahana yaad hai,
Humko ab tak aashqui ka wo zamana yaad hai.


अजीब-सी दुनिया है।
हम अंदर से टूट गए
और किसी को शक भी नही हुआ

Ajeeb-si duniya hai.
Hum andar se toot gaye
Aur kisi ko shak bhi nahi hua.


वो दौर भी देखा मैंने अपनी आशिकी का
जब उसने तस्वीर ही नही
मेरा दिल भी जलाया था

Wo daur bhi dekha maine apni aashiqui ka
Jab usne tasveer hi nahi
Mera dil bhi jalaya tha.


itna karunga mohabbat ke to khud kahegi
dekh wo mera aashiq ja raha hai
इतना करुगा मुहब्बत के तू खुद कहेगी
देख वो मेरा आशिक जा रहा है


samundar baha dene ka jigar to rakhte hai lekin
humein aashiqhi ki numaish ki aadat nahi hai dost
समुंदर बहा देने का जिगर तो रखते है लेकिन
हमें आशिकी की नुमाइश की आदत नहीं है दोस्त


humein bhi yaad rakken jab likhon taarikh gulshan ki
ki humne bhi lutaya hai chaman mein aashiyaa apna

हमें भी याद रखें जब लिखों तारीख गुलशन की
की हमने भी लुटाया है चमन में आशियां अपना


jaanat-e-ishq mein har baat ajeeb hoti hai
kisi ko asshiqui to kisi k shayari naseeb hoti hai
जन्नत-ए-इश्क मैं हर बात अजीब होती है
किसी को आशिकी तो किसी को शायरी नसीब होती है


Romantic Aashiqui Shayari

Romantic Aashiqui Shayari

इतना करुगा मुहब्बत के तू खुद कहेगी
देख वो मेरा आशिक जा रहा है


तिलिस्म-ए-मोहब्बत है आशिक़ का हाल
उन्हें भी ये क़िस्सा सुनाएँगे हम


आख़री हिचकी तिरे ज़ानूँ पे आए
मौत भी मैं शाइराना चाहता हूँ


आप पहलू में जो बैठें तो सँभल कर बैठें
दिल-ए-बेताब को आदत है मचल जाने की


माना कि मोहब्बत का छुपाना है मोहब्बत
चुपके से किसी रोज़ जताने के लिए आ


चमकते चाँद से चेहरों के मंज़र से निकल आए
ख़ुदा हाफ़िज़ कहा बोसा लिया घर से निकल आए


मैने ईश्क करने का मिजाज बदल दिया है..
अब तो बस तन्हाईयों से आशिकी करते हैं..


खुद को मिटा दिया, तेरी एक ख़ुशी की खातिर,
बेफ़िक्र थे गजब के… तेरी आशिकी से पहले


झुकाया तुने झुके हम बराबरी ना रही,
ये बन्दगी हुई ऐ दोस्त आशिकी ना हुई


गज़ब की आशिकी है तेरी इन निगाहो में
जब भी देखती है डूबने को मजबूर कर देती है


इशक में बू है किब रियाई की
आशिकी जिस ने की खुदाई की


2021 Aashiq Shayari

2021 Aashiq Shayari

न खबर होगी तुम्हे मेरी आशिकी की
सुना है सांसो की हद सिर्फ मौत होती है


कल ना हम होंगे ना कोई गिला होगा,
बस सिमटी हुई यादों का सिलसिला होगा,
जो लम्हे मिले हैं चलो हंस कर बिता लें,
जाने कल ज़िन्दगी का क्या फ़ैसला होगा।

Kal Na Hum Honge Na Koi Gila Hoga
Bs Simti Hui Yaadon Ka Silsila Hoga
Jo Lamhe Mile Hain Chalo Hans Kr Bitalen
Jaane Kal Zindagi Ka Kya Faisla Hoga


तेरे ख्यालों से धड़कन को छुपा के देखा है,
दिल और नज़र को बहुत रुला के देखा है,
तेरी कसम तू नहीं तो कुछ नहीं,
क्योंकि मैंने कुछ पल तुझे भुला के देखा है!

Tere Khyalon Se Dhadkan Ko Chhupa K Dekha Hai
Dil Aur Nazar Ko Bahut Rula K Dekha Hai
Teri Qasam Tu Nhi To Kuchh Nhi
Kyonki Kuch Pal Maine Tujhe Bhula K Dekha Hai


हमेशा साथ रहने की चाहत कुछ नहीं होती,
जो लम्हे मिल गए जी लो, आदत कुछ नहीं होती,
कई रिश्तों को जब परखा, नतीजा एक ही निकला,
ज़रूरत ही सब कुछ है, मोहब्बत कुछ नहीं होती।

Hamesha Sath Rahne Ki Chahat Kuch Nhi Hoti
Jo Lamhe Mil Gaye Jee Lo, Aadat Kuch Nhi Hoti
Kayi Rishton Ko Jab Parkha Nateeja Ek Hi Nikla
Zarurat Hi Sab Kuch Hai, Mohabbat Kuch Nhi Hoti


हसरत है सिर्फ तुम्हें पाने की,
और कोई ख्वाहिश नहीं इस दीवाने की,
शिकवा मुझे तुम से नहीं खुदा से है,
क्या ज़रूरत थी तुम्हें इतना खूबसूरत बनाने की।

Hasrat Hai Sirf Tumhe Paane Ki
Aur Koi Khwahish Nhi Is Deewane Ki
Shikwa Mujhe Tumse Nhi Khuda See Hai
Kya Zarurat Thi Tumhe Itna Khubsurat Banane Ki


ज़रा सी ज़िन्दगी है अरमान बहुत है,
हमदर्द नहीं कोई इंसान बहुत है,
दिल का दर्द सुनाएं तो सुनाएं किसको,
जो दिल के करीब है वो अनजान बहुत है।

Zara Si Zindagi Hai Arman Bahut Hai
Hamdard Nahi Koi Insan Bahut Hai
Dil Ka Dard Sunaye To Sunaye Kisko
Jo Dil Ke Qareeb Hai Wo Anjan Bahut Hai


हम ने एक असूल पे सारी उम्र गुज़ारी है,

जिस को अपना जान लिया फिर उस को परखा नहीं.
Ham Ne Ek Asul Pe Saari Umra Gujaari Hai,
Jis Ko Apana Jaan Liya Us Ko Parkha Nahi.


अब सज़ा दे ही चुके हो तो मेरा हाल ना पूछना,

गर मैं बेगुनाह निकला तो तुम्हे अफ़सोस बहुत होगा.
Ab Saja De Hi Chuke Ho To Mere Haal Na Puchna,
Gar Begunaah Nikla To Tumhe Afsos Bahut Hoga.


तमन्ना से नहीं तन्हाई से डरते है,

पियार से नहीं रुसवाई से डरते है,

मिलने की चाहत तो बहुत है मगर,

मियन के बाद की जुदाई से डरते है.


Tamanna Se Nahi TanhaayI Se Darte Hai,
Piyaar Se Nahi Rusvaayi Se Darte Hai,
Milane Ki Chaahat To Bahut Hai Magar,
Miyan Ke Baad Ki Judaayi Se Darte Hai.


कोई अच्छी सी सज़ा दो मुझको,

चलो ऐसा करो भूला दो मुझको,

तुमसे बिछडु तो मौत आ जाये,

दिल की गहराई से ऐसी दुआ दो मुझको.


Koi Achhi Si Saa Do Mujhako,
Chalo Aisa Karo Bhula Do Mujhako,
Tumase Bichhadu To Maut Aa Jaaye,
Dil Ki Gahraayi Se Aisi Dua Do Mujhako.


जो मोहब्बत तुम्हारे दिल में है,

उसे जुबां पर लाओ और बयां कर दो,

आज बस तुम कहो और कहते ही जाओ,

हम बस सुनें ऐसे बेज़ुबान कर दो.


Jo Mohabbat Tumhare Dil Me Hai,
Use Juaan Par Laao Aur Bayaan Kar Do,
Aaj Bas Tum Kaho Aur Kahte Hi Jaao,
Ham Bas Sune Aise Bejubaan Kar Do.


ज़रूरी तो नहीं के शायरी वो ही करे जो इश्क में हो,

ज़िन्दगी भी कुछ ज़ख्म बेमिसाल दिया करती है.
Jaruri To Nahi Ke Shayari Vo Hi Kare Jo Ishq Me Ho,
Zindagi Bhi Kuch Jakhm Bemisaal Diya Karti Hai


वक़्त के बदलने से इश्क़ कहाँ बदलता है,

आप से प्यार था आप से ही प्यार है.
Vakt Ke Badalne Se Ishq Kaha Badalta Hai,
Aap Se Pyaar Tha Aap Se Hi Pyaar Hai.


सुन्दर चेहरे के लिए आशिक़ो की कमी नहीं,

तलाश तो उसकी है जो दिल से प्यार करे.
Sundar Chehare Ke Liye Aashiqo Ki Kami Nahi,
Talaash To Usaki Hai Jo Dil Se Pyaar Kare.


प्यार वो जख्म है जो कभी भरता नही,

ये वो सफर है जो मर के भी ख़त्म होता नही.
Pyaar Vo Jakhm Hai Jo Kabhi Bharta Nahi,
Ye Vo Safar Hai Jo Mar Ke Bhi Khatm Hota Nahi.


प्रेम यक़ीन दिलाने का मोहताज नहीं होता,

एक दिल धड़कता है तो दुजा समझता है.
Prem Yakin Dilaane Ka Mohtaaj Nahi Hota,
Ek Dil Dhadakta Hai To Duja Samajhta Hai.

Other Posts :-

Mulakat Shayari In Hindi
दिल्लगी शायरी | Dillagi shayari In Hindi
Sayri Ki Dayri | Shayri Ki Dayri In Hindi

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *