India Shayari

20210925 103528

161+ Aansu Shayari | गम के आंसू शायरी | Ashq Shayari

Hello, Friends Are You Looking For Aansu Shayari. So Today We Have Brought the Best Collection Of गम के आंसू शायरी. This Collection Contains Various Types Of Shayari Like Aansu Shayari Image, Gam Ke Aansu Shayari, दर्द के आंसू शायरी, आसू भरी शायरी, Dard Aansu Shayari, Aansu Bhari Shayari Etc. Also, Share These With Your Friends.

Aansu Shayari

Aansu Shayari

 

अभी से क्यों छलक आये तुम्हारी आँख में आँसू,
अभी छेड़ी कहाँ है दास्तान-ए-ज़िंदगी मैंने।


आँखों में आंसुओ को… उभरने ना दिया,
मिट्टी के मोतियों को बिखरने ना दिया,
जिन राहों पर पड़े थे तेरे कदमो के निशान,
उन राहों से किसी को गुजरने ना दिया।

Aankhon Mein Aansuo Ko… Ubharne Na Diya,
Mitti Ke Motiyon Ko Bikharne Na Diya,
Jin Rahon Par Pade The Tere Kadmo Ke Nishan,
Un Raahon Se Kisi Ko Gujarne Na Diya.


होंठो ने मुस्कुराने से मना कर दिया..
आंसुओं ने बह जाने से मना कर दिया..
एक बार जो दिल टूटा प्यार में..
फिर इस दिल ने दिल लगाने से मना कर दिया..

Hothon Ne Muskurane Se Mana Kar Diya..
Aansuo Ne Beh Jane Se Mana Kar Diya..
Ek Baar Jo Dil Toota Pyar Mein..
Phir Is Dil Ne Dil Lagane Se Mana Kar Diya


मेरी आंखों के आंसू कह रहे हैं मुझसे,
अब दर्द इतना है कि सहा नहीं जाता,
मत रोक पलको से खुल कर छलकने दे,
अब इन आँखों में थम कर रहा नहीं जाता।

Meri Aankhon Ke Aansoo Keh Rahe Hain Mujhse,
Ab Dard Itna Hai Ki Saha Nahin Jata,
Mat Rok Palko Se Khul Kar Chhalkane De,
Ab In Aankhon Mein Tham Kar Raha Nahin Jata


आँसू आ जाते हैं आँखों में,
पर लबों पे हसी लानी पड़ती है,
यह मोहब्बत भी क्या चीज़ है यारो,
जिससे करते है उसी से छुपानी पड़ती है।

Aansu Aa Jatey Hain Ankhon Mein,
Par Labon Pe Hasi Laani Padti Hai,
Yeh Mohabbat Bhi Kya Cheez Hai Yaaro,
Jisse Kartey Hai Usi Se Chhupani Padti Hai


कभी रो के मुस्कुराए, कभी मुस्कुरा के रोए,
जब भी तेरी याद आई तुझे भुला के रोए,
एक तेरा ही तो नाम था जिसे हज़ार बार लिखा,
जितना लिख के खुश हुए उस से ज़यादा मिटा के रोए।

Kabhi Ro Ke Muskuraye, Kabhi Muskura Ke Roye,
Jab Bhi Teri Yaad Aayi Tujhe Bhula Ke Roye,
Ek Tera Hi Toh Naam Tha Jise Hazaar Baar Likha,
Jitna Likh Ke Khush Hue Us Se Jyada Mita Ke Roye



दिल में हर राज़ दबा कर रखते हैं,
होंठों पे मुस्कुराहट सज़ा के रखते हैं,
यह दुनिया सिर्फ ख़ुशी में साथ देती है,
इसलिए हम अपने आँसुओं को छुपा कर रखते हैं।

Dil Mein Har Raaz Daba Kar Rakhte Hain,
Honthon Pe Muskurahat Saza Ke Rakhte Hain,
Yeh Duniya Sirf Khushi Mein Saath Deti Hai,
Isliye Ham Apne Aansuo Ko Chhupa Kar Rakhte Hain.


कोई दुःख बसा है उनकी आँखों में शायद,
या मुझे खुद ही वहम सा हुआ है शायद,
जब पूछा क्या भूल गए हो हमे तुम,
पोंछ कर आँसू अपनी आँख से उसने भी कहा शायद।

Koi Duhkh Basa Hai Unki Aankhon Mein Shayad,
Ya Mujhe Khud Hi Veham Sa Hua Hai Shayad,
Jab Poochha Kya Bhool Gaye Ho Hume Tum,
Ponchh Kar Aansoo Apni Aankh Se Usne Bhi Kaha Shayad


वो आती नही पर निसानी भेज देती हैं..
ख्वाबो में दास्तां पुरानी भेज देती हैं..
कितने मिठे है उनके यादो के मंजर..
कभी-कभी आखो में पानी भेज देती हैं..।

Wo Aati Nahi Par Nishani Bhej Deti Hai..
Khwaabo Mein Daastan Purani Bhej Deti Hai..
Kitne Meethe Hai Unke Yaado Ke Manjar..
Kabhi-Kabhi Aankho Mein Paani Bhej Deti Hai


छलकते आंसुओं को पलकों में छुपा नहीं सकता,
मेरे कदम रोकते हैं मुझको उसके पास जा नहीं सकता,
न जाने किसकी गलती थी कोई रूठ गया था मुझसे,
आज उसे मनाने की ख्वाहिश तो है बहुत…
पर दिल मजबूर है इतना कि उसे मना नहीं सकता।

Chhalakte Aansuon Ko Palkon Mein Chhupa Nahin Sakta,
Mere Kadam Rokte Hain Mujhko Uske Paas Ja Nahin Sakta,
Na Jane Kiski Galti Thi Koi Rooth Gaya Tha Mujhse,
Aaj Use Manane Ki Khvaahish To Hai Bahut…
Par Dil Majaboor Hai Itna Ki Use Mana Nahin Sakta.


अश्क बन कर आँखों से बहते हैं !
बहती आँखों से उनका दीदार करते हैं !
माना की ज़िंदगी मे उन्हे पा नही सकते !
फिर भी हम उनसे बहुत प्यार करते हैं !!

Ashq Ban Kar Aankho Se Behte Hai!
Behti Aankho Se Unka Deedar Karte Hai!
Maana Ki Zindagi Mein Paa Nahi Sakte!
Phir Bhi Hum Unse Bahot Pyar Karte Hai


गम के आंसू शायरी

गम के आंसू शायरी

टपक पड़ते हैं आँसू जब तुम्हारी याद आती है,
ये वो बरसात है जिसका कोई मौसम नहीं होता।


जब कोई मजबूरी में जुदा होता है,
वोह ज़रूरी नहीं के बेवफा होता है,
आपकी आँखों में दे कर वह आँसू,
आपसे भी ज़्यादा अकेले में रोता है।

Jab Koe Majburi Mein Juda Hota Hai,
Voh Zaroori Nahin Ke Bewafa Hota Hai,
Aapke Aankhon Mein De Kar Veh Aansoo,
Aapse Bhe Zyaada Akele Mein Rota Hai.


मुझको ऐसा दर्द मिला जिसकी दवा नहीं,
फिर भी खुश हूँ मुझे उस से कोई गिला नहीं,
और कितने आंसू बहाऊँ मैं उसके लिए,
जिसको खुदा ने मेरे नसीब में लिखा नहीं।

Mujhko Aisa Dard Mila Jiski Dava Nahi,
Phir Bhi Khush Hun Mujhe Uss Se Koi Gila Nahi,
Aur Kitne Aansu Bahaun Main Uss Ke Liye,
Jisko Khuda Ne Mere Naseeb Main Likha Nahi


होंठो की जुबान यह आँसू कहते है,
जो चुप रहते है फिर भी बहते है,
और इन आँसू की किस्मत तो देखिये,
यह उनके लिए बहते है जो इन आँखों में रहते है।

Hontho Ki Juban Yeh Aansu Kehte Hai,
Jo Chup Rehte Hai Phir Bhi Behte Hai,
Aur In Aansu Ki Kismat To Dekhiye,
Yeh Unke Liye Behte Hai Jo In Aankho Mein Rehte Hai.


जो आंसू न होते आँखों में,
तो ऑंखें इतनी खूबसूरत न होती,
जो दर्द न होता इस दिल में,
तो ख़ुशी की कीमत पता न होती,
जो बेवफाई न की होती वक़्त ने हमसे,
तो जुदाई में जीने की आदत न होती।

Jo Aansu Na Hote Ankhon Mein,
To Ankhen Itni Khobsurat Na Hoti,
Jo Dard Na Hota Dil Mein,
To Khushi Ki Kimat Pata Na Hoti,
Jo Bewfayee Na Ki Hoti Waqt Ne Humse,
To Judai Main Jine Ki Aadat Na Hoti.


आंसुओसे पलके भिगा लेता हूँ !
याद तेरी आती है तो रो लेता हूँ !
सोचा की भुलादु तुझे मगर !
हर बार फ़ैसला बदल देता हूँ !!

Aansuo Se Palke Bhiga Leta Hu!
Yaad Teri Aati Hai To Ro Leta Hu!
Socha Ki Bhula Du Tujhe Magar!
Har Baar Faisla Badal Deta Hu!


आती नही वो पर निसानी भेज देती हैं,
दास्तां पुरानी ख्वाबो में भेज देती हैं,
उनके यादो के मंजर कितने मिठे है,
आखो में कभी-कभी पानी भेज देती हैं।

Aate Nahi Wo Par Nisani Bhej Deti Hain,
Dastaan Purani Khwaabo Mein Bhej Deti Hain,
Unke Yaado Ke Manjar Kitne Mithe Hain,
Aankho Mein Kabhi-Kabhi Pani Bhej Deti Hain.


चाहत वो नहीं जो जान देती है,
चाहत वो नहीं जो मुस्कान देती है,
ऐ दोस्त चाहत तो वो है,
जो पानी में गिरा आँसू पहचान लेती है।

Chahat Wo Nahi Jo Jaan Deti Hai,
Chahat Wo Nahi Jo Muskaan Deti Hai,
Ae Dost Chahat To Wo Hai,
Jo Pani Mein Gira Aansu Pehchan Leti Hai


कुछ अंदाज़ मोहब्बत के भी होते हैं,
जागती आँखों के भी कुछ ख्वाब होते हैं,
गम में ही आँसू निकलें जरुरी नहीं,
सैलाब मुस्कुराती आँखों में भी होते हैं।

Kuch Andaz Mohabbat Ke Bhi Hote Hain,
Jaagti Aankhon Ke Bhi Kuch Khwaab Hote Hain,
Gam Mein He Aansoo Nikalen Jaruri Nahi,
Sailab Muskurate Aankhon Mein Bhi Hote Hain


एक दिन करोगे याद प्यार के ज़माने को,
जब हम चले जाएँगे ना वापिस आने को,
जब महफ़िल मे चलेगा ज़िक्र हमारा तो,
तन्हाई ढूँढोगे तुम भी आँसू बहाने को।

Ek Din Karoge Yaad Pyar Ke Zamane Ko,
Jab Ham Chale Jaenge Na Wapis Aane Ko,
Jab Mehfil Me Chalega Zikr Hamara To,
Tanhai Dhondhoge Tum Bhi Aansoo Bahane Ko


भर आयी मेरी आँखे जब उसका नाम आया,
इश्क नाकाम सही फिर भी बहुत काम आया,
हमने मोहब्बत में ऐसी भी गुजारी कई रातें,
जब तक आँसू न बहे दिल को आराम न आया।

Bhar Aayi Meri Aankhe Jab Uska Naam Aaya,
Ishq Nakaam Sahi Fir Bhi Bahut Kaam Aaya,
Humne Mohabbat Me Aisi Bhi Gujaari Kayi Raate,
Jab Tak Aansu Na Bahe Dil Ko Aaram Na Aaya.


Aansu Shayari In Hindi

Aansu Shayari In Hindi

वही हम थे कि रोते हुओं को हंसा देते थे,
वही हम हैं कि थमता नहीं एक आँसू अपना


अपनी तो ज़िन्दगी ही अजीब कहानी है, जिस चीज़ को चाहा वह बेगानी है

हस्ते हैं तो सिर्फ दुनिया के लिए, वरना इन आँखों मैं तो सिर्फ पानी ही पानी है


रोते रहे सारी रात तकिये में मुँह छिपाए, गम को हल्का करते है आँसुओं को आँखों से बहाये

क्या पता था मेरा रोना किसी को इतना भायेगा, मुझे रुलाने की लिए वो हर पल याद आएगा


तेरी याद में हम पल पल रोया करते हैं,  सोए सोए भी हम जागा करते हैं

तूने जो कर ली बेवफाई, उसे भुलाने के लिए हम रोज पिया करते हैं


हमें आँसुओं से ज़ख्मों को धोना नहीं आता, मिलती है ख़ुशी तो उसे खोना नहीं आता

सह लेते हैं हर ग़म को जब हँसकर हम, तो लोग कहते है कि हमें रोना नहीं आता


आंसू जो गई गुजरी उलफत की निशानी हे, मेरे लिए मोती है उनके लिए पानी है

जिस तरह से हँस रहा हु मै पी के अश्क़ ए ग़म, यु दूसरा हसे तो कलेजा निकल पड़े


जब कोई गम आता है ,साथ में आंसु लाता है .
जब ये आंसु बहते है, इन्सान का दर्द कहते है


आँखों से आंसु यू ही बह जाते है, मुझसे तेरी दासता कह जाते है .
आंसुओं के थमने का नाम नहीं होता, जब तेरी याद का आना है होता


तेरी याद मुझे आंसु दे जाती है, तेरी फिक्र मेरी नींदे ले जाती है.
इतना मुझे क्यू सताते हो – अगर करते हो प्यार तो लौट क्यू नहीं आते हो


रोते हुए मेहबूब बहुत प्यारे लगते होंगे ,
हमारी तरह रात में वो भी जगते होंगे।


मेरे दिल में तेरे लिए, प्यार सच्चा लगता है.
और हमें आपके लिए, आंसू बहाना अच्छा लगता है।


आंसू देने वाले बहुत है, मगर पोछने वाले कम .
इस दुनिया में ख़ुशी कही नहीं, हर तरफ बस गम ही गम


ध्यान रखना कभी अपने, माँ-बाप को ना सताए .
आपकी वजह से उनकी, आँखों में आंसू ना आये


जब कोई गम आता है , साथ में आंसु लाता है .
जब ये आंसु बहते है, इन्सान का दर्द कहते है


वो कह के चले इतनी मुलाकात बहुत है, मैंने कहा रुक जाओ अभी रात बहुत है,
आँसू मेरे थम जाये तो फिर शौक से जाना, ऐसे में कहाँ जाओगे बरसात बहुत है।


सुहाना मौसम था हवा में नमी थी आँसुओ की बहती नदी अभी अभी थमी थी,
मिलने की चाहत बहुत थी उनसे पर उनके पास वक़्त और हमारे पास सांसो की कमी थी।


न जाने कितने आँसू बहाते हैं, हम तेरे इश्क में हर रोज,
इतने आँसू पीकर भी ये इश्क प्यासा क्यों है ए खुदा


वो नदियाँ नहीं आँसू थे मेरे, जिस पर वो कश्ती चलाते रहे,
मंजिल मिले उन्हें ये चाहत थी मेरी, इसलिए हम आँसू बहाते रहे।


मेरी दोस्ती हमेशा याद आएगी कभी चेहरे पे हँसी,कभी आँखो मे आँसू लाएगी
भूलना भी चाहोगे तो कैसे भुलोगे मेरी कोई तो बात होगी जो हमेशा याद आएगी


रख सको तो एक निशानी हैं हम, भूल जाओ तो एक कहानी हैं हम,
खुशी की धूप हो या गम के बादल,दोनो में जो बरसे वो पानी हैं हम।


आँसू हमारे पोंछ कर वो मुस्कराते हैं, इसी अदा से वो मेरा दिल चुराते हैं,
हाथ उनका छू जाये हमारे चेहरे को, इसी उम्मीद में हम खुद को रुलाते हैं।


सदियों बाद उस अजनबी से मुलाक़ात हुई, आँखों ही आँखों में चाहत की हर बात हुई,
जाते हुए उसने देखा मुझे चाहत भरी निगाहों से, मेरी भी आँखों से आंसुओं की बरसात हुई।


आगोश-ए-सितम में छुपाले कोई, तन्हा हूँ तड़पने से बचा ले कोई,
सूखी है बड़ी देर से पलकों की जुबां, बस आज तो जी भर के रुला दे कोई।


भर आई मेरी आँखे जब उसका नाम आया, इश्क़ नाकाम सही फिर भी बहुत काम आया,
हमने मोहब्बत में ऐसी भी गुज़ारी कई रातें, जब तक आँसू ना बहे दिल को आराम न आया।


कभी बरसात का मज़ा चाहो, तो इन आँखों में आ बैठो,
वो बरसों में कभी बरसती है, ये बरसों से बरसती हैं।


समंदर में उतरता हूँ तो आँखें भीग जाती हैं, तेरी आँखों को पढ़ता हूँ तो आँखें भीग जाती हैं,
तुम्हारा नाम लिखने की इजाज़त छिन गई जबसे, कोई भी लफ्ज़ लिखता हूँ तो आँखें भीग जाती हैं।


मज़बूरी में जब कोई जुदा होता है, ज़रूरी नहीं कि वो बेवफ़ा होता है,
देकर वो आपकी आँखों में आँसू, अकेले में आपसे ज्यादा रोता है।


प्यार कर के कोई जताए ये ज़रूरी तो नहीं, याद कर के कोई बताये ये ज़रूरी तो नहीं,
रोने वाले तो दिल में ही रो लेते हैं अपने, कभी आँख में आसूं आये ये ज़रूरी तो नहीं।


गम के आंसू शायरी हिंदी

गम के आंसू शायरी हिंदी

तू इश्क की दूसरी निशानी दे दे मुझको,
आँसू तो रोज गिर कर सूख जाते हैं।


तुमसे है मोहब्बत इतनी,
ये मेरे नैन कहते है .
याद तुम्हारी आने के बाद,
आंसू मेरे बहते है


जब-जब मैंने अपने
दर्द का हिसाब लगाया
तब-तब अपने दर्द को मैंने
माँ के दर्द से कम ही पाया


पिता की आँखे कुछ
अलग ही हुआ करती है
अश्क भी नहीं बहाती
फिर भी दर्द कहा करती है


जब-जब मुझे तू याद आता है
ना जाने क्यू मुझे अँधेरा बहुत भाता है
शायद इसलिए कि कोई देखे ना मेरे आंसू
क्यूंकि ख्याल तेरा मुझे बेहद रुलाता है


आंसुओं का जब बहना होता है
मेरे दिल का तब ये कहना होता है
कि क्यू मै तुझे इतना हुआ चाहता
कि इक ख्याल ही तेरा मुझे बेहद रुलाता


मुझे न जाने उस पर इतना यकीन क्यों है,
उसका ख्याल भी इतना हसीन क्यों है,
सुना है प्यार का दर्द मीठा होता है,
तो आँख से निकला आँसू नमकीन क्यों है


बहुत चाहा उसको जिसे हम पा न सके,
ख्यालों में किसी और को ला न सके,
उसको देख के आँसू तो पोंछ लिए,
लेकिन किसी और को देख के मुस्कुरा न सके


चाहत वो नहीं जो जान देती है,
चाहत वो नहीं जो मुस्कान देती है,
ऐ दोस्त चाहत तो वो है,
जो पानी में गिरा आँसू पहचान लेती है।


मुझको ऐसा दर्द मिला जिसकी दवा नहीं,
फिर भी खुश हूँ मुझे उस से कोई गिला नहीं,
और कितने आंसू बहाऊँ मैं उसके लिए,
जिसको खुदा ने मेरे नसीब में लिखा नहीं।


भर आयी मेरी आँखे जब उसका नाम आया,
इश्क नाकाम सही फिर भी बहुत काम आया,
हमने मोहब्बत में ऐसी भी गुजारी कई रातें,
जब तक आँसू न बहे दिल को आराम न आया।


मोहब्बत के सपने वो दिखाते बहुत हैं,
रातों में वो हमको जगाते बहुत हैं,
मैं आँखों में काजल लगाऊ तो कैसे,
इन आँखों को सब रुलाते बहुत हैं।


आँसू हमारे पोंछ कर वो मुस्कराते हैं,
इसी अदा से वो मेरा दिल चुराते हैं,
हाथ उनका छू जाये हमारे चेहरे को,
इसी उम्मीद में हम खुद को रुलाते हैं।


वो नदियाँ नहीं आँसू थे मेरे,
जिस पर वो कश्ती चलाते रहे,
मंजिल मिले उन्हें ये चाहत थी मेरी,
इसलिए हम आँसू बहाते रहे।


वो कह के चले इतनी मुलाकात बहुत है,
मैंने कहा रुक जाओ अभी रात बहुत है,
आँसू मेरे थम जाये तो फिर शौक से जाना,
ऐसे में कहाँ जाओगे बरसात बहुत है।


दिल मैं हर राज़ दबा कर रखते है,
होंटो पर मुस्कराहट सजाकर रखते है,
ये दुनिया सिर्फ़ खुशी मैं साथ देती है,
इसलिए अपने आँसुओ को छुपा कर रखते है।


खामोश रहने दो लफ़्ज़ों को,
आँखों को बयाँ करने दो हकीकत
अश्क जब निकलेंगे झील के,
मुक़द्दर से जल जायेंगे अफसाने


आप से खफा होकर हम जाएंगे कहाँ,

आप सा साथी हम पाएंगे कहाँ…
दिल को तो कैसे भी समझा लेंगे हम,

लेकिन आँखों के आँसू छुपायेंगे कहाँ


रोने भी नहीं देते, हॅसने भी नहीं देते,

जिने भी नहीं देते, मरने भी नहीं देते
कहते है वो गैरों को लाओ न ख्यालो में,

और खुद अपने ख्यालों में खोने भी नहीं देते


ऐ ख़त के पढ़ने वाले,
ज़रा दिल लगाके पढ़ना,
आंसू न निकल आये,
ज़रा मुस्कुरा के पढ़ना


मेरे दिल में न आओ वरना डूब जाओगे,
ग़म-ए-अश्कों के सिवा कुछ भी नहीं अंदर
अगर एक बार रिसने लगा जो पानी,
तो कम पड़ जायेगा भरने के लिए समंदर


Emotional Aansu Shayari

Emotional Aansu Shayari

आज अश्क से आँखों में क्यों हैं आये हुए,
गुजर गया है ज़माना तुझे भुलाये हुए।


अश्कों के टपकने पर तस्दीक़ हुई उसकी
बेशक वो नहीं उठते आंखों से जो गिरते हैं


अब अपने चेहरे पर दो पत्थर से सजाए फिरता हूं
आंसू ले कर बेच दिया है आंखों की बीनाई को


बिछी थीं हर तरफ़ आंखें ही आंखें
कोई आंसू गिरा था याद होगा


फ़िर आज अश्क़ से आंखों में क्यूं हैं आए हुए
गुज़र गया है ज़माना तुझे भुलाए हुए


आंखों से आंसुओं के मरासिम पुराने हैं
मेहमां ये घर में आएं तो चुभता नहीं धुआं


मुस्कुराती आँखों से अफ़साना लिखा था,शायद आपका मेरी ज़िन्दगी में आना लिखा था

तक़दीर तो देखो मेरे आँसू की उसको भी तेरी याद मे बह जाना लिखा था


मेरी दोस्ती हमेशा याद आएगी कभी चेहरे पे हँसी,कभी आँखो मे आँसू लाएगी

भूलना भी चाहोगे तो कैसे भुलोगे मेरी कोई तो बात होगी जो हमेशा याद आएगी


दर्द कितना है बता नहीं सकते ज़ख़्म कितने हैं दिखा नहीं सकते

आँखों से खूद समझ लो आँसू गिरे हैं कितने गिना नहीं सकते


तुझे बचपन मेँ ही मांग लेते

हर चीज मिल जाती थी दो आँसू बहाने से.


कैसे हो पाये भला इंसान की पहचान 

दोनों नकली हो गए, आँसू और मुस्कान


ज़रासी बात देर तक रूलाती रही खुशी में भीआँखें आँसू बहाती रह कोई खो के मिला

तो कोई मिल के खो गया ज़िंदगी हम को बस ऐसे ही आज़माती रही


करोगे याद एक दिन प्यार के ज़माने को चले जाएँगे जब हम ना वापिस आने को चलेगा

जब महफ़िल मे ज़िक्र हमारा तो तुम भी तन्हाई ढूँढोगे आँसू बहाने को


जिसकी किस्मत मे लिखा हो रोना दोस्तो.

वो मुस्कुरा भी दे तो आँसू निकल आते है


तासीर किसी भी दर्द की मीठी नहीँ होती गालिब

वजह यही है कि आँसू भी नमकीन होते है.


जिन्हें सलीका है ग़म समझने का उन्हींके रोने में आँसू नज़र नहीं आत

ख़ुशी की आँख में आँसू की भी जगह रखना बुरे ज़माने कभी पूछकर नहीं आते


Latest गम के आंसू शायरी

20210925 103657 7 11zon

न जाने कौन सा आँसू मेरा राज़ खोल दे,
हम इस ख़्याल से नज़रें झुकाए बैठे हैं।


काश वो पल संग बिताए न होते जिनको याद कर के ये आँसू आये ना होते

खुदा को अगर इस तरह दूर ले जाना ही था तो इतनी गहराई से दिल मिलाए ना होते


ख़ूब हँस लो की मेरे हाल पे सब हँसते हैं मेरी आँखों से किसी ने भी न आँसू पोंछे

मुझ को हमदर्द निगाहों की ज़रूरत भी नहीं


दर्द होता नहीँ दुनिया को बताने के लिए हर कोई रोता नहीँ

आँसू बहाने के लिए रुठने का मजा तो तब है जब कोई अपना हो मनाने के लिए


वो नदियां नहीं आँसू थे मेरे जिनपर वो कश्ती चलाते रहे,

मंज़िल मिले उन्हें ये चाहत थी मेरी इसीलिए हम आँसू बहाते रहे


मज़बूरी में जब कोई जुदा होता है; ज़रूरी नहीं कि वो बेवफ़ा होता है;

देकर वो आपकी आँखों में आँसू; अकेले में वो आपसे ज्यादा रोता है।


आँख का आँसू तो हर कोई, बन जाता हैं यहाँ

हम तो बस मुस्कुराहट बनने की, आरज़ू रखते हैं


जब आपसे मिलने की उम्मीद नज़र आयी„ मेरे पाँव में ज़ंजीर नज़र आयी

गिर पड़े आँसू आँख से„ और हर एक आँसू में आपकी तस्वीर नज़र आयी


हँसने पर आँसू आते हैं रोना है फरेबी आँखों का

उस दिन से ग़म है मेरे दिल में जिस दिन से उल्फ़त है सीने में


आया नहीं था कभी मेरी आँख से एक आँसू भी

मोहब्बत क्या हुई आँसुओं का सैलाब आ गया


अच्छा हुआ ये आँसू बेरंग है वरना हर सुबह मेरे तकिये का बदला हुआ रंग

मेरी तन्हाई की हकीकत ब्यान कर देता


Heart Broken Aansu Shayari

Heart Broken Aansu Shayari

जब लफ्ज़ थक गए तो फिर आँखों ने बात की,
जो आँखें भी थक गयीं तो अश्कों से बात हुई।


रोने वाले तो दिल में ही रो लेते हैं
आँखों में आँसू आयें ये ज़रूरी तो नहीं

Rone wale to dil mein hi ro lete hain
Aankhon mein aaye ye jaruri to nahin


कम नहीं हैं आँसू मेरी आँखों में मगर
रोता नहीं कि उनमें उसकी तस्वीर दिखती है

Kam nahi hain meri aankhon mein magar
Rota nahni ki unmein uski tasveer dikhti hai


तुम्हारी याद में आंसू बहाना यूँ भी जरूरी है
रुके दरिया के पानी को तो प्यासा भी नहीं छूता

Tumhari yaad mein aansoo bahana yun bhi jaruri hai
Ruke dariya ke pani ko to pyasa bhi nahin chhoota


एक दुःख पर हज़ार आँसू
उफ़ मेरे दिल की ये फजूल खर्चियाँ

Ek dukh par hazar aansoo
Uf mere dil ki ye fazool kharichyan


रूठा था जिस गुरुर से वो भी तो याद कर
आँखों में तेरी आज यह आँसू फजूल हैं

Rutha tha jis gurur se wo bhi to yaad kar
Aankhon me teri aaj yah aansoo fazool hain


जाने कितने आँसू बहाते हैं हम इश्क में हर रोज
इतने आँसू पीकर भी ये इश्क प्यासा क्यूँ है खुदा

Jaane kitane aansoo bahaate hain ham ishq mein har roz
Itane aansoo peekar bhi ye ishq pyaasa kyun hain khuda


आँसू की कीमत जो समझ ली उन्होने
उन्हे भूलकर भी मुस्कुराते रहे हम

Aansoo ki keemat jo samjh li unhone
Unhe bhoolkar bhi muskuraate rahe ham


बहुत रोया हूँ मैं जब से ये मैंने ख्वाब देखा है
कि आप आँसू बहाते सामने दुश्मन के बैठे है

Bahut roya hoon main jab se ye maine khwab dekha hai
Ki aap aansoo bahaate saamne dushman ke baithe hai


क्या मिला प्यार में मेरी ज़िंदगी के लिए
रोज़ आँसू ही पिए हैं मैंने किसी के लिए

Kya mila pyar mein meri zindagi ke liye
Roz aansoo hi piye hain maine kisi ke liye


तुम मुझे हँसी-हँसी में खो तो दोगे
पर याद रखना फिर आंसुओं में ढ़ूंढ़ोगे

Tum mujhe hansi-hnasi mein kho to dogo
Par yaad rakhna phir aansuon mein dhoondoge


kabhi Muskuraye ke roye, Kabhi Ro ke Muskuraye,
Wo haseen wade tere,Hamen jab bhi Yaad aaye.

कभी मुस्कुरा के रुए कभी रु के मुस्कुराये ,
वो हसीन वादे तेरे , हमें जब भी याद आए


Uski Mehfil mein meri Ankh se Aansu na ruka,
Ruk gai Saans Maagr Dil ka Dard Na Ruka.

उसकी महफ़िल में मेरी आँख से आंसूं ना रुका ,
रुक गई साँस मगर दिल का दर्द ना रुका


Meri Ankhon se gire hain chnd Lamhe,
Tere Liye Hian pani Mere liye hain Aansu.

मेरी आँखों से गिरे हैं चन्द लम्हे ,
तेरे लिये हैं पानी मेरे लिये हैं आंसूं


Aankhon mein har pal Aansu hain.
Chahat ka kya khub sila diya hai mujhe.

आँखों में हर पल आंसू हैं ,
चाहत का क्या खुब सिला दिया है मुझे


Bhut Mazboot the Hum
Magar wo kehte hai na
“Mohabbat ache-acho ko rula deti hai

बहुत मज़बूत थे हम
मगर वो कहते है ना
“मोहब्बत “अच्छे-अच्छों को रुला देती है


Tu Khafa Mujhse Hua Hai JabSe,
Aankh se Aansoon Na Ruka Hai Tabse.

तो ख़फा मुझसे हुआ है जबसे ,
आँख से आंसूं न रुका है तबसे |


Tumne Mujhe Hansi-Hansi mein Kho To Diya,
Lekin Hamen Hamesha Aansuon main Dhundoge.

तुमने मुझे हंसी-हंसी में खो तो दिया ,
लेकिन हमें हमेशा आंसुओं मैं ढ़ोंडोगे


Aayi Jo teri Yaad Aankhen Chalak Padi,
Aansun teri yadoon ke kitne qareeb hain.

आई जो तेरी याद आँखें छलक पड़ी ,
आंसूं तेरी यादों के कितने क़रीब थे


Mat Puch kaise Guzar rahi hai Zindagi Tere Bgair,
Honthon Pe hansi Aur Ankh mein Aansu Rehte hain.

मत पूछ कैसी गुज़र रही है तेरी बगैर ,
होंठों पे हंसी आँख में आंसूं रहते हैं


Ulfat Mein Teri Dil Ka Ye Haal Hua,
Aansun Se ghar Mera Aabad Hua.

उल्फ़त में तेरी दिल का ये हाल हुआ ,
आंसूं से घर मेरा आबाद हुआ


Doob Jaate Hain Yadoon Ke Safine Ismein,
Mein nahi manta Aansun Zra sa Pani hai.

डूब जाते हैं यादों के सफिने इसमें,
मैं नहीं मानता आंसूं ज़रा सा पानी है|


Aansun ka Tariqa Bhi Ajeeb hai,
Dard par Nikalte nahin,
Aur Dard Dene wale ke naam par nikal Aate hain.

आंसूं का तरीका भी अजीब है ,
दर्द पर निकलते नहीं ,
और दर्द देने वाले के नाम पर निकल आते हैं


Kitne Bhi Khush Kyoun na Hon,
Rula deti hai Teri Kami Kabhi-Kabhi.

कितने भी खुश क्योँ न हों ,
रुला देती है तेरी कमी कभी-कभी


Tere Ishq Ki Duniya Mein Har koi majbooor hai,
Pal mein Hansi Pal Mein Aansun Ye Chahat ka dastoor hai.

तेरे इश्क़ की दुनिया में हर कोई मजबूर है,
पल में हंसी पल में आंसूं ,
ये चाहत का दस्तूर है

Other Posts :-

Shikayat Shayari In Hindi
Rula Dene Wali Shayari
अलविदा शायरी | Alvida Shayari In Hindi

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *