India Shayari

20210528 133044

[50+ Best Intezar Shayari | Shayari on Intezar Collection

Hello, Dear friends Welcome To Our Post. If You Are Waiting For Someone Special Who Is Far From You And You Want To Express That You Are Missing Them Very Much And Waiting for Them Then You Are At Right Place.

We Have Brought Here A Collection Of Heart Touching intezar shayari And shayari on intezar . You Can Send These To Your Loved One Girlfriend Or Boyfriend Or Anyone Else And Express Your Precious Felling To Them .

हेलो डियर फ्रेंड्स हमारे पोस्ट में आपका स्वागत है। अगर आप किसी ऐसे खास का इंतजार कर रहे हैं जो आपसे दूर है और आप यह जताना चाहते हैं कि आप उन्हें बहुत मिस कर रहे हैं और उनका इंतजार कर रहे हैं तो आप सही जगह पर हैं।

हम यहां लाए हैं दिल को छू लेने वाली Intezar Shayari और Shayari On Intezar का संग्रह। आप इन्हें अपनी प्रेमिका या प्रेमी या किसी और को भेज सकते हैं और उन्हें अपनी कीमती फीलिंग का इजहार कर सकते हैं।


Intezar shayari In Hindi

20210528 133451 2

शाम कब की ढल चुकी है तेरे इन्तज़ार में
अब भी अगर आ जाओ तो ये रात बहुत है


Hath Ki Lakeeron Par Aitbaar Kar Lena,
Bharosa Ho To Kisi Se Pyar Kar Lena,
Khona Pana To Naseebon Ka Khel Hai,
Khushi Milegi Bas Thoda Intazaar Kar Lena.

हाथ कि लकीरों पर ऐतबार कर लेना,
भरोसा हो तो किसी से प्यार कर लेना,
खोना पाना तो नसीबों का खेल है,
ख़ुशी मिलेगी बस थोड़ा इंतज़ार कर लेना।


Unki Aawaz Sunne Ko Bekaraar Rahte Hain,
Shayad Isi Ko Duniya Mein Pyar Kahte Hain,
Katne Se Bhi Jo Na Kate Waqt,
Usi Ko Mohabbat Mein Intezaar Kahte Hain.

उनकी आवाज़ सुनने को बेकरार रहते हैं,
शायद इसी को दुनिया में प्यार कहते हैं,
काटने से भी जो ना कटे वक्त,
उसी को मोहब्बत में इंतज़ार कहते हैं।


Kishton Mein Khudkushi Kar Rahi Hai Ye Zindagi,
Intezaar Tera…Mujhe Poora Marne Bhi Nahin Deta.

किश्तों में खुदकुशी कर रही है ये जिन्दगी,
इंतज़ार तेरा…मुझे पूरा मरने भी नहीं देता।


Jeene Ki Khwaish Me Har Roz Marte Hain,
Wo Aaye Na Aaye Hum Intezaar Karte Hain,
Jutha Hi Sahi Mere Yaar Ka Vaada,
Hum Sach Maankar Aitbar Karte Hain.

जीने की ख्वाइश में हर रोज़ मरते हैं,
वो आये न आये हम इंतज़ार करते हैं,
जूठा ही सही मेरे यार का वादा,
हम सच मानकर ऐतबार करते हैं।


Kin Lafjon Mein Likhoon Main Apne Intezaar Ko Tumhen,
Bejuban Hai Ishq Mera Dhoondhta Hai Khamoshi Se Tujhe.

किन लफ्जों में लिखूँ मैं अपने इन्तजार को तुम्हें,
बेजुबां है इश्क़ मेरा ढूँढता है खामोशी से तुझे।


Shayari on intezar 2021

20210528 133343

तेरी मोहब्बत पे मेरा हक तो नहीं
पर दिल चाहता है आखरी साँस तक तेरा इंतज़ार करू


Kabhi Khushi Se Khushi Ki Taraf Nahi Dekha,
Tumhare Baad Kisi Ki Taraf Nahi Dekha,
Yeh Soch Kar Ke Tumhara Intezar Lazim Hai,
Tamaam Umr Ghadi Ki Taraf Nahi Dekha.


कभी ख़ुशी से ख़ुशी की तरफ नहीं देखा,
तुम्हारे बाद किसी की तरफ नहीं देखा,
ये सोच कर कि तुम्हारा इंतजार लाजिम है,
तमाम उम्र घड़ी की तरफ नहीं देखा।


Ghazab Kiya Tere Wade Par Aitbaar Kiya,
Tamaam Raat Kiya Qayamat Ka Intezaar Kiya.


ग़जब किया तेरे वादे पर ऐतबार किया,
तमाम रात किया क़यामत का इंतज़ार किया।


Kisi Roz Hogi Roshan, Meri Bhi Zindagi,
Intzaar Subah Ka Nahi Tere Laut Aane Ka Hai.
किसी रोज़ होगी रोशन मेरी भी ज़िंदगी,
इंतज़ार सुबह का नहीं तेरे लौट आने का है

Haalaat Kah Rahe Hain Mulakaat Nahi Mumkin,
Ummeed Kah Rahi Hai Thhoda Intezaar Kar.


हालात कह रहे हैं मुलाकात नहीं मुमकिन,
उम्मीद कह रही है थोड़ा इंतज़ार कर।


Din Bhar Bhatakte Rahte Hain Armaan Tujhse Milne Ke,
Na Yeh Dil Thehrta Hai Na Tera Intezaar Rukta Hai.


दिन भर भटकते रहते हैं अरमान तुझसे मिलने के,
न ये दिल ठहरता है न तेरा इंतज़ार रुकता है।


Best Collection of Intezar shayari

20210528 133309

प्यार भी हम करें, इन्तजार भी हम,

जताये भी हम और रोयें भी हम


रात क्या होती है हमसे पूछिए,
आप तो सोये सवेरा हो गया।


Raat Kya Hoti Hai Hum Se Poochhiye,
Aap To Soye Savera Ho Gaya.


पलकों पर रूका है समन्दर खुमार का,

कितना अजब नशा है तेरे इंतजार का।


Palkon Par Ruka Hai Samandar Khumaar Ka,
Kitna Ajab Nasha Hai Tere Intezaar Ka.


इक मैं कि इंतज़ार में घड़ियाँ गिना करूँ,
इक तुम कि मुझसे आँख चुराकर चले गये।


Ek Main Ki Intezaar Mein Ghadiyan Gina Karoon,
Ek Tum Ki Mujhse Aankh Churakar Chale Gaye.


कब आ रहे हो मुलाकात के लिये,
हमने चाँद रोका है एक रात के लिये।


Kab Aa Rahe Ho Mulakat Ke Liye,
Humne Chaand Roka Hai Ek Raat Ke Liye.


उल्फ़त के मारों से ना पूछो आलम इंतज़ार का,
पतझड़ सी है ज़िन्दगी और ख्याल है बहार का।


Ulfat Ke Maaron Se Na Poochho Aalam Intezar Ka,
Patjhad Si Hai Zindagi Aur Khayal Hai Bahaar Ka.


Waiting Shayari on Intezar

 

Waiting Shayari on Intezar

अच्छे वक़्त का इंतजार हम नही करते
हम तो बुरे वक़्त को भी अच्छे मे बदलने की औक़ात रखते है.


Ye Kah Kah Ke Hum Dil Ko Samjha Rahe Hain,
Wo Ab Chal Chuke, Wo Ab Aa Rahe Hain.

ये कह कह के हम दिल को समझा रहे है
कि वो अब चल चुके,वो अब आ रहे है।


Dil Me Intezar Ki Lakeer Chhod Jayenge,
Aankhon Me Yaado Ki Nami Chhod Jayenge,
Dhudhte Firoge Hume Har Jagah Ek Din,
Zindagi Me Aisi Apni Kami Chhod Jayenge.

दिल में इंतज़ार की लकीर छोड़ जायेंगे,
आँखों में यादों की नमी छोड़ जायेंगे,
ढूंढ़ते फिरोगे हमें हर जगह एक दिन,
ज़िन्दगी में ऐसी अपनी कमी छोड़ जायेंगे।


Tadapti Hai Aaj Bhi Rooh Aadhi Raat Ko,
Nikal Padte Hain Aankh Se Aansu Aadhi Raat Ko,
Intezar Me Tere Barsho Beet Gaye Sanam Mere,
Dil Ko Hai Aas Ayegi Tu Aadhi Raat Ko.

तड़पती है आज भी रूह आधी रात को,
निकल पड़ते हैं आँख से आँसू आधी रात को,
इंतज़ार में तेरे वर्षों बीत गए सनम मेरे,
दिल को है आस आएगी तू आधी रात को।


Humne Ye Shaam Chirago Se Saja Rakhi Hai,
Aapke Intezar Me Palke Bichha Rakhi Hain,
Hawa Takra Rahi Hai Shama Se Baar Baar,
Aur Humne Shart In Hawaon Se Laga Rakhi Hai.

हमने ये शाम चिरागों से सजा रखी है,
आपके इंतजार में पलके बिछा रखी हैं,
हवा टकरा रही है शमा से बार-बार,
और हमने शर्त इन हवाओं से लगा रखी है।


किसी रोज़ होगी रोशन मेरी भी ज़िंदगी,
इंतज़ार सुबह का नहीं तेरे लौट आने का है।


Kisi Roz Hogi Roshan Meri Bhi Zindagi,
Intzaar Subah Ka Nahi Tere Laut Aane Ka Hai.


Love Intezar Shayari

20210528 133200

इंतज़ार की आरज़ू अब खो गयी है,

खामोशियों की अब आदत हो गयी है


उसे भुला दे मगर इंतज़ार बाकी रख,
हिसाब साफ न कर कुछ हिसाब बाकी रख..


क़दम क़दम पर बिछे हैं गुलाब पलकों के
चले भी आओ कि हम इंतज़ार करते हैं


अब ख़ाक उड़ रही है यहाँ इंतज़ार की
ऐ दिल ये बाम-ओ-दर किसी जान-ए-जहाँ के थे


कब ठहरेगा दर्द-ए-दिल कब रात बसर होगी
सुनते थे वो आएँगे सुनते थे सहर होगी


इंतजार हमारा करे कोई मंजिल हमारी बने कोई।
दिल की यह आरजू हैं हमारे दिल में आके रहे कोई।


Other Shayari :-

[50+ Best Ishq Shayari]

[40+ Children Day Quotes]

[50+ Karma Quotes]

1 thought on “[50+ Best Intezar Shayari | Shayari on Intezar Collection”

  1. Pingback: 65+ Mood off quotes | मूड ऑफ Quotes In Hindi

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top